DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मऊ  ›  तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट

मऊतीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट

हिन्दुस्तान टीम,मऊPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:12 AM
तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट

मऊ । संवाददाता

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो चुका है। स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मचारी पूरी तरह से कमर कस लिए हैं। जिला अस्पताल में दस बेड का 'पीकू' वार्ड पहले से ही बनकर तैयार हो गया है। साथ ही साथ मुख्य चिकित्साधिकारी ने सभी स्वास्थ्य अधिकारियों व कर्मचारियों को सख्त दिशा निर्देश भी जारी कर दिया है। मुख्य चिकित्साधिकारी ने दावा किया है कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयारी को अंतिम रुप दिया जा रहा है। वहीं ग्रामीण अंचलों के स्वास्थ्य कर्मियों व स्वास्थ्य अधिकारियों को सचेत कर दिया गया है।

प्रदेश की योगी सरकार द्वारा कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए वर्तमान समय में मंडल स्तर पर सभी मंडलों का सघन दौरा किया जा रहा है। साथ ही साथ प्रत्येक मंडल से लेकर जिले में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को लेकर स्वास्थ्य सुविधाओं का भी जायजा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लिया जा रहा है। तीसरी लहर को देखते हुए जिले में भी जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलर्ट जारी कर दिया है। शासन के आदेश पर 25 पीकू यानि पीआईसीयू (पीडियाट्रिक्स इंटेंसिव केयर यूनिट) वार्ड तैयार करने का आदेश जारी किया गया था। शासन के आदेश के क्रम में जिला संयुक्त चिकित्सालय में दस बेड का ं 'पीकू' वार्ड बनकर तैयार हो गया है। तीसरी लहर से निपटने को लेकर वार्ड में बाल रोग विशेषज्ञ व चिकित्सकों की 24 घंटे तैनाती की जाएगी साथ ही साथ संबंधित चिकित्सीय संसाधन व दवाएं उपलब्ध रहेंगी। जिला अस्पताल में दस बेड के पीकू वार्ड के साथ ही ग्रामीण अंचलों में भी तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरु कर दिया गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सतीश चंद्र सिंह ने बताया कि वार्ड में एक माह से 15 वर्ष तक के गंभीर बीमार बच्चों को अभी इमरजेंसी ट्रायेज असेस्मेंट एवं टीट्रमेंट इकाई में प्राथमिक उपचार प्रदान किया जाता है। इसका उपयोग कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों को सुरक्षित रखने में किया जाएगा। स्वास्थ्य में सुधार होने पर शिशु रोग वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है।

'पीकू' वार्ड में 10 बच्चों का एक साथ हो सकता है उपचार: सीएमएस

मऊ । संवाददाता

जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. बृज कुमार ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार जिला अस्पताल में दस बेड का 'पीकू' वार्ड पूरी तरह से तैयार है। सीएमएस डॉ. बृज कुमार ने बताया कि जिला अस्पताल में स्थापित 10 बेड के पीकू में 10 बच्चों की भर्ती करने की क्षमता है। इसके साथ में पांच वेंटिलेटर युक्त बेड हैं। आवश्यकता पड़ने पर इसमें और बेड बढ़ाए जा सकते हैं। सीएमएस ने बताया कि 16 सदस्यों की स्टाफ पीकू (पीआईसीयू) वार्ड के लिए नियुक्त किए गए है जिसमें तीन बाल रोग विशेषज्ञ हैं। सीएमएस ने दावा किया कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल में पूरी तरह से तैयारी कर लिया गया है।

संबंधित खबरें