DA Image
17 जनवरी, 2021|2:46|IST

अगली स्टोरी

किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का डीएम ने किया शुभारम्भ

किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का डीएम ने किया शुभारम्भ

1 / 2किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का शुभारम्भ शुक्रवार को पूरे विधि विधान, हवन पूजन व वैदिक मंत्रोच्चार के साथ किया गया। चीनी मिल समिति के...

किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का डीएम ने किया शुभारम्भ

2 / 2किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का शुभारम्भ शुक्रवार को पूरे विधि विधान, हवन पूजन व वैदिक मंत्रोच्चार के साथ किया गया। चीनी मिल समिति के...

PreviousNext

घोसी। हिन्दुस्तान संवाद

किसान सहकारी चीनी मिल के नवीन पेराई सत्र का शुभारम्भ शुक्रवार को पूरे विधि विधान, हवन पूजन व वैदिक मंत्रोच्चार के साथ किया गया। चीनी मिल समिति के सभापति जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने डोगें में गन्ना डालकर तथा बैलों की पूजा कर पेराई सत्र का शुभारम्भ किया।

सत्र का शुभारंभ होने के बाद कम्प्यूटरकृत कांटा से पहले बैलगाड़ी व फिर ट्रैक्टर से आये गन्ना की तौल की गयी। जिलाधिकारी ने रिकवरी दर बढ़ाने के साथ ही उच्च क्वालिटी के चीनी उत्पादन पर जोर दिया। अधिकारियों कर्मचारियों को पूरी क्षमता के साथ मिल को चलाने का निर्देश देते हुए कहा कि चीनी का रख रखाव सही रहना चाहिए। गोदाम में सीलन आदि न रहे। समय समय पर मिल के मेंकटनेंस का ध्यान रखा जाये जिससे पेराई सत्र में अनावश्यक मिल बन्द न करनी पड़े। जिलाधिकारी ने किसानों के हितों का ध्यान रखने तथा मिल को सुचारू रूप से संचालित करने का निर्देश दिया। इस दौरान सीआरओ हंसराज, एसडीएम आशुतोष राय, मिल के प्रधान प्रबंधक लालता प्रसाद सोनकर, सीसीओ रामसेवक यादव, मिल समिति के उपाध्यक्ष रामाश्रय राय, डायरेक्टर राजमंगल यादव, शेख हिसामुद्दीन, ब्लाक प्रमुख सुजीत कुमार सिंह सहित बड़ी संख्या में अधिकारी कर्मचारी व किसान मौजूद रहे।

खेत में न जलाएं अवशेष: सीसीओ

किसान सहकारी चीनी मिल के मुख्य गन्ना अधिकारी रामसेवक यादव ने किसानों से खेत में धान अथवा गन्ने का अवशेष न जलाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि ऐसा करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही न्यूनतम ढाई हजार व अधिकतम 15 हजार तक जुर्माना किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मिल व गन्ना समिति में उपलब्ध माउण्ट टाइप स्ट्राचार एण्ड मल्चर तथा हाईड्रोलिक रिक्र्सेवुल एमबी प्लाऊ से किसान अपने खेत का अवशेष नष्ट कर सकते हैं। इससे वातावरण सुरक्षित रहने के साथ ही खेत में जैविक उर्बरक भी मिल सकेगी।

23 लाख कुन्तल गन्ना पेराई का लक्ष्य: जीएम

चीनी मिल के प्रधान प्रबंधक एलपी सोनकर ने बताया कि इस सत्र में 23 लाख कुन्तल गन्ना पेराई का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। लक्ष्य की पूर्ति के लिए कार्य योजना बनाकर अभी से काम किया जा रहा है। पिछले सत्र में चीनी मिल में 21 लाख 62 हजार कुन्तल गन्ना की पेराई कर एक लाख 80 हजार कुन्तल चीनी का उत्पादन किया गया। उन्होंने कहा है कि मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से सप्लाई पर्ची प्राप्त होने के उपरान्त ही गन्ने की कटाई करें जिससे चीनी मिल को ताजा गन्ना मिल सके।

22 क्रय केन्द्रों पर होती है गन्ना की खरीद

घोसी। किसान सहकारी चीनी मिल में 22 क्रय केन्द्रों से गन्ना की खरीद की जाती है। चन्द्रापार, ताड़ी बड़ागांव, सूरजपुर अ, करखिया, बड़ागांव, निछुवाडीह, बांसडीह, मालताड़ी, दुबारी अ, सूरजपुर ब, मनियर, हैदराबाद, दुबारी ब, खरीद घाट, तितौली, रसड़ा गेट, रतनपुरा, गजियापुर, किड़िहरापुर, दुबारी स, सुखपुरा व भुवना बुजुर्ग गन्ना क्रय केन्द्र से गन्ना की खरीद कर चीनी मिल लाया जाता रहा है। इस वर्ष अभी तक क्रय केन्द्रों का स्पष्ट निर्धारण नहीं किया जा सका है।

किसानों का 12 करोड़ गन्ना मूल्य बकाया

घोसी। पिछले पेराई सत्र में कुल 22 हजार 232 किसानों ने चीनी मिल में गन्ना की सप्लाई दी। इनमें से 16 मार्च तक मिल में गन्ना सप्लाई करने वाले 20 हजार 99 किसानों का कुल 56 करोड़ 2लाख रूपये गन्ना मूल्य का भुगतान मिल प्रयाासन द्वारा किसानों के खाते में कर दिया गया है। अभी तक दो हजार 133 किसानों का 12 करोड़ 21 लाख 71 हजार रूपये बकाया है। मिल प्रशासन किसानों के बकाया भुगतान के प्रयास में जुटा हुआ है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DM inaugurates new crushing session of farmer cooperative sugar mill