DA Image
22 अक्तूबर, 2020|12:26|IST

अगली स्टोरी

7899 निर्माण श्रमिकों के खाते में पहुंची आपदा राहत की धनराशि

default image

मऊ। निज संवाददाता जनपद में आपदा राहत सहायता योजना के अन्र्तगत 7899 श्रमिकों के खाते में आपदा राहत की पहली किस्त भेजी जा चुकी है। जबकि श्रम विभाग में 10 हजार 900 श्रमिक नवीनीकृत हैं। शेष श्रमिकों के खाते भी जल्द ही धनराशि भेज दी जायेगी। जिन श्रमिकों का नवीनीकरण नहीं है उनकी नवीनीकरण की प्रक्रिया कार्यालय में चल रही है। आपदा राहत सहायता योजना की दूसरी किस्त भी श्रमिकों के खाते में भेजी जाने लगी है। सोमवार को 102 श्रमिकों के खाते में धनराशि प्रेषित कर दी गई है। श्रम प्रर्वतन अधिकारी ने बताया कि जिन श्रमिकों का पंजीकरण नहीं है व पिछले 12 माह में 90 दिन से अधिक निर्माण श्रमिक के रूप में जैसे मनरेगा, भवन व अन्य संनिर्माण से सम्बंधित कार्य कर चुके हैं वह नियोक्ता से प्रमाणित कराकर जन सेवा केंद्रों के माध्यम से या कार्यालय में उपस्थित होकर पंजीकरण करा सकते हैं। बताया कि आपदा राहत सहायता योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में 4056 पात्रों व नगर क्षेत्र के 10772 पात्रों के खाते में धनराशि भेजी जा चुकी है। 90 दिन कार्य करने वाले श्रमिकों का हो रहा पंजीकरण मऊ। श्रम प्रर्वतन अधिकारी धीरज कुमार सिंह ने बताया कि ऐसे सभी निर्माण श्रमिक जो 18 वर्ष से लेकर 60 वर्ष की आयु के हैं और जिन्होंने पंजीकरण के समय पिछले 12 माह में 90 दिन तक निर्माण श्रमिक के रूप में कार्य किया हो। वह निर्माण श्रमिक श्रम विभाग के जिला कार्यालय या जनसेवा केंद्रों पर पंजीयन फार्म के साथ दो फोटो, आधार कार्ड व बैंक पासबुक की छायाप्रति के साथ निर्माण श्रमिक के रूप में 90 दिनों तक का कार्य करने का प्रमाणपत्र सति 20 रुपये पंजीकण शुल्क व 20 रूपये प्रतिवर्ष अंशदान के साथ सम्पर्क कर सकते हैं। बताया कि गैर प्रान्तों से आने वाले श्रमिक भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Disaster relief funds reached 7899 construction workers