Dhanush Yagna y Ram-Sita Matrimonio - धनुष यज्ञ व राम-सीता विवाह ने मोहा मन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धनुष यज्ञ व राम-सीता विवाह ने मोहा मन

जमालपुर में चल रही रामलीला में बड़ी संख्या में उमड़े श्रद्ध‌ालु, परशुराम-लक्ष्मण संवाद रहा आकर्षण का केंद्र

पहसा। हिन्दुस्तान संवाद

श्री पृथ्वी नाथ ब्रह्म बाबा हलधरपुर रेलवे स्टेशन जमालपुर में चल रही रामलीला में सोमवार की रात्रि में धनुष यज्ञ, परशुराम-लक्ष्मण संवाद दर्शकों का केंद्र रहा। धनुष यज्ञ एवं राम सीता विवाह की मनमोहक प्रस्तुति से श्रद्धालु भावविभोर हो गये।

मंचन के दौरान गुरु विश्वामित्र राम लक्ष्मण को लेकर सीता स्वयंवर के लिए जनकपुर पहुंचते हैं। जहां उनका यथोचित आदर सत्कार होता है। राम लक्ष्मण जनकपुर की शोभा देखकर प्रसन्न चित्त होते हैं। तब गुरु विशवामित्र फूल लाने के लिए राम लक्ष्मण को राजा जनक के फूलवारी में भेजते हैं। उसी समय जनक नंदनी गिरजा पूजन के लिए वहा आती हैं। राम सीता वहीं एक दूसरे को देखते हैं। स्वयम्बर में पहुंचे राम लक्ष्मण का स्वरूप देखकर सीता सहित जनकपुर के नर नारी मोहित हो जाते है। श्रीराम उपस्थित राजाओं सहित सबको नमन करते हुए धनुष को तोड़ देते हैं। चारों तरफ श्री राम जी की जय जयकार होने लगता है। इसी बीच सीता राम के गले में वरमाला डाल देती हैं। उधर धनुष टूटने की आवाज से परशुराम राम जी का ध्यान टूट जाता है। लक्ष्मण जी से काफी तीखी नोक झोक होती है। अंतोगत्वा श्री रामचन्द्र जी का शक्ति परीक्षण कर परशुराम जी शांत होकर महेन्द्र गिरी पर्वत पर पुन: लौट जाते हैं। मंचन के दौरान राम के रूप में अमितेष कुमार मिश्र, लक्षमण के रूप में रमन पाडेय, सीता के रूप में मनीष मिश्रा, लंकेश्वर के रूप में अखिलेश मिश्रा, वाणासुर के रूप में आनंद यादव, जनक के रूप में श्री नारायण राय, उमती विमती के रूप में रसिन्दर व रजनीश राजभर किरदार निभाया। कार्यक्रम के आयोजक मुन्नू राय, मुरारी राजभर, ओमप्रकाश यादव आदि रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dhanush Yagna y Ram-Sita Matrimonio