ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मऊसुबह में हवा संग हल्की बारिश से फसलें गिरीं

सुबह में हवा संग हल्की बारिश से फसलें गिरीं

मौसम के मिजाज में एक बार फिर परिवर्तन से जन-जीवन प्रभावित रहा। बुधवार की भोर में तेज हवा के साथ दो घंटे तक रुक-रुक बारिश हुई, हालांकि सुबह 9 बजे के...

सुबह में हवा संग हल्की बारिश से फसलें गिरीं
हिन्दुस्तान टीम,मऊWed, 21 Feb 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

मऊ। मौसम के मिजाज में एक बार फिर परिवर्तन से जन-जीवन प्रभावित रहा। बुधवार की भोर में तेज हवा के साथ दो घंटे तक रुक-रुक बारिश हुई, हालांकि सुबह 9 बजे के बाद दिन साफ होने के साथ पूरे दिन धूप निकली। लेकिन शाम को पांच बजे के बाद दिन ढलते ही आकाश में बादलों के उमड़-घूमड़ का सिलसिला पुन: शुरु हो गया। मौसम के मिजाज में परिवर्तन से किसान दलहनी और तिलहनी फसलों के नुकसान की आशंका को लेकर काफी चिंतित नजर आए। बुधवार को जिले का न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्यिस तथा अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्यिस दर्ज किया गया।
नगर समेत ग्रामीण अंचलों में बुधवार की भोर में अचानक मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आया। भोर में तीन बजे के करीब तेज हवा के साथ बारिश के कारण अचानक ठंड व ठिठुरन में इजाफा हो गया। रुक-रुक कर तीन बजे से शुरु हुई बारिश सुबह 6 बजे तक हुआ। बारिश के कारण नगर क्षेत्र के मुंशीपुरा, गाजीपुर तिराहा, नई बस्ती, सहादतपुरा आदि स्थानों पर जल जमाव की स्थिति उत्पन्न हो गया। इसी प्रकार ग्रामीण अंचल स्थित रानीपुर, चिरैयाकोट, मधुबन, मुहम्मदाबाद गोहना, पूराघाट, दोहरीघाट, पहसा आदि इलाकों में भी भोर में हुई बारिश के कारण जन-जीवन प्रभावित रहा। हालांकि सुबह नौ बजे के बाद मौसम साफ होने के बाद पूरे दिन धूप निकली रही। हल्की बारिश ने नगर पालिका व नगर पंचायत की सफाई व्यवस्था की पोल खोल दिया। जगह-जगह पानी लगने के कारण आमजन को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। बारिश के कारण सुबह में न्यूनतम तापमान में कमी आने के कारण बच्चे ठंड में ठिठुर कर जाते नजर आए। सुबह में तेज हवा के साथ हुई बारिश के कारण कुछ स्थानों पर गेहूं की खड़ी फसल खेत में गिरने से नुकसान हुआ है। किसानों का कहना था कि अगर तेज हवा एवं बारिश का ऐसे ही सिलसिला जारी रहा तो भविष्य में काफी नुकसान की आशंका है।

दलहन, तिलहन व आलू के नुकसान को लेकर चितिंत रहे किसान

मऊ। मौसम के मिजाज में अचानक परिवर्तन के कारण किसानों के माथे पर पसीना आ गया। किसान दलहन, तिलहन व आलू की फसलों के नुकसान को लेकर काफी र्चिंतत नजर आए। किसान शिवजी, दु:खी राम, विनय गुप्ता ने बताया कि हालांकि अभी हुई बारिश के कारण कुछ खास नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन आगे बारिश का सिलसिला चलता रहा तो दलहन, तिलहन व आलू की फसलों को काफी नुकसान हो सकता है।

आगे की बारिश हो सकती है नुकसानदायक: उप कृषि निदेशक

मऊ। उपकृषि निदेशक सत्येन्द्र चौहान ने बताया कि आज की बारिश से कुछ स्थानों पर तेज हवा के कारण गेहूं की खड़ी फसल गिरने से थोड़ा नुकसान हुआ है। लेकिन अगर तेज हवा एवं बारिश का सिलसिला आगे ऐसे ही चलता रहा तो गेहूं के साथ ही दलहन, तिलहन व आलू की फसलों को भी नुकसान पहुंच सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें