ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मऊसजने लगी गोठा में भेली की मंडी, जुट रहे खरीदार

सजने लगी गोठा में भेली की मंडी, जुट रहे खरीदार

गोठा की भेली जहां देश में ही नहीं विदेशों में भी इसके स्वाद को चखने के लिये लोग लालायित रहते हैं। वहीं जब विदेशी शैलानी इस रोड से गुजरते हैं तो...

सजने लगी गोठा में भेली की मंडी, जुट रहे खरीदार
हिन्दुस्तान टीम,मऊMon, 04 Dec 2023 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

दोहरीघाट, हिदुस्तान संवाद । गोठा की भेली जहां देश में ही नहीं विदेशों में भी इसके स्वाद को चखने के लिये लोग लालायित रहते हैं। वहीं जब विदेशी शैलानी इस रोड से गुजरते हैं तो गोंठा के गुड़ मंडी जाकर भेली खाते ही कहते हैं कि भेरी भेरी स्वीट डिश कहकर गुड़ खरीदते व चखते हैं।
गोठा का प्रसिद्ध भेली इस समय 100 से 150 रूपये किलो तक बिक रहा है। जिसे एक नम्बर का भेली कहा जाता है। राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे मंडी परिसर में बाजार लगती है। इस मार्ग से वाराणसी से लुंबिनी तक बौद्ध धर्म के विदेशी अनुयाई एवं अन्य सैलानी गुजरते हैं। इनके विश्राम के लिए गोठा में मोटल तथागत भी स्थापित है। इसके चलते विदेशी नागरिक गोठा मंडी की सुप्रसिद्ध भेली का भी स्वाद चखते हैं। भेली मुंह में जाते ही विदेशी इट इज भेरी-भेरी स्वीट डिश कहते हैं। किसान इस गुड़ को बनाने के लिये बड़ी ही कड़ी मेहनत करते हैं। किसान ओमप्रकाश ने बताया कि गन्ने को कोल्हू में पेराई कर इसका रस निकाल कर बडे़ कराहे में पकाया जाता है तथा इसकी गन्दगी छाटने के लिये फिटकरी डाला जाता है। चार पांच घण्टे के बाद यह गुड़ तैयार होता है तथा इसे भेली का रूप दिया जाता है। आज बाजार में यह भेली इस समय 100 रूपये से लेकर 150 रूपये तक बिक रही है। इधर जैसे ही किसान अपनी भेली लेकर बाजार में आता है उसका तुरंत गुड़ बिक जाता है। लेकिन अब गुड़ की मंडी धीरे-धीरे बहुत कम हो गयी है। अगर किसानों को गुड़ उद्योग का बढ़ावा मिले तो फिर एक फिर इस क्षेत्र में गुड़ उद्योग की क्रांति आ जायेगी।

-

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें