DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मऊ › सूचना उपलब्ध नहीं कराये जाने पर लगाया 25 हजार का अर्थदण्ड
मऊ

सूचना उपलब्ध नहीं कराये जाने पर लगाया 25 हजार का अर्थदण्ड

हिन्दुस्तान टीम,मऊPublished By: Newswrap
Sun, 26 Sep 2021 03:11 AM
सूचना उपलब्ध नहीं कराये जाने पर लगाया 25 हजार का अर्थदण्ड

नदवासराय। ब्लाक मुहम्मदाबाद गोहना से धान की बीज व खाद खरिदने के बाद धान की सब्सिडी का पैसा खाते में न आने को लेकर तहसील क्षेत्र मुहम्मदाबाद गोहना स्थित ग्राम पंचायत सियाबस्ती निवासी रामकेवल मौर्य द्वारा जनसूचना अधिकारी/जिलाधिकारी मऊ से जनसूचना मांगा गया था। जनसूचना अधिकारी द्वारा सूचना उपलब्ध न कराये जाने पर सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा20(1)के अधीन तत्कालीन जनसूचना अधिकारी/जिलाधिकारी पर उत्तर प्रदेश सूचना आयोग लखनऊ द्वारा 25 हजार रुपये का अर्थ दण्ड लगाया गया है। जिसका भुगतान उनके वेतन से वसूली कर लेखा शिर्ष में जमा करने का आदेश जारी किया गया है।

ग्राम सियाबस्ती निवासी रामकेवल मौर्य ने 12 जून 2017 को शंकर 6444 नामक प्रजाति की 15 किलो धाम की बीज एवं खाद ब्लाक मुहम्मदाबाद गोहना से 4250 रुपये में खरीदारी किया था। जिसमें खाद की सब्सिडी खाते में मिल गई, लेकिन धान की सब्सिडी का पैसा नहीं मिला। जिसे लेकर रामकेवल ने जनसूचना मांगा। जिसकी जनसूचना अधिकारी द्वारा सूचना न उपलब्ध कराने से नाराज उक्त ब्यक्ति ने उत्तर प्रदेश सूचना आयोग लखनऊ में लिखित शिकायत दर्ज कराया। जिसके सापेक्ष 6 सितम्बर 2021 को प्रमोद कुमार तिवारी राज्य सूचना आयुक्त लखनऊ की पीठ ने तत्कालीन जिला सूचना अधिकारी/जिलाधिकारी मऊ पर 250 रुपये प्रतिदिन के दर से 25 हजार रुपये का अर्थ दण्ड लगाया है। रजिस्ट्रार सूचना आयोग उत्तर प्रदेश को आदेशित किया है कि अर्थ दण्ड की वसूली उनके वेतन से कराकर लेखा शिर्ष में जमा कराये।

संबंधित खबरें