DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूनिट कम दिखाने को बदल दिया मीटर

उपभोक्ता को बिजली बिल में लाभ पहुंचाने के लिए औरंगाबाद क्षेत्र में बगैर सूचना के सही मीटर को बदल दिया गया और उसमें कम यूनिट दर्शा दी गई। इसके जरिए विभाग को चूना लगाया गया है। मामले का खुलास इसलिए हो गया क्योंकि मीटर बदलने से कुछ दिनों पूर्व उसकी रीडिंग की वीडियोग्राफी हो गई थी। जिसमें रीडिंग ज्यादा थी, जबकि उसके बाद मीटर बदलने पर मीटर रीडिंग कम दिखाई गई थी। खुलासा होने पर एसडीओ ने अधिशाषी अभियंता को पत्र लिखकर बिलिंग कंपनी से यह राशि वसूल करने की संस्तुति की है।

औरंगाबाद क्षेत्र में कार्य कर रही बिलिंग कंपनी की लापरवाही के चलते करीब चार हजार बिल गलत बन रहे हैं। मीटर रीडर द्वारा साइट पर जानबूझकर गलत बिल बनाए जा रहे हैं। जबकि मीटर में रीडिंग स्टोर रहती है। निर्देश के बाद भी कोई सुधार नहीं आया है। एसडीओ औरंगाबाद सचिन द्विवेदी द्वारा एक्सईएन फर्स्ट एवं उच्च अधिकारियों को लिखे पत्र में अवगत कराया कि उपभोक्ता सोनवीर सिंह निवासी कर्मयोगी नगर बाईपास नबादा का मीटर बगैर शिकायती पत्र के बदलवा दिया। मीटर बदले जाने का कारण स्पष्ट नहीं हो रहा है। टीजी कपिल नारायण द्वारा गत फरवरी की सही रीडिंग वीडियो के माध्यम से उपलब्ध कराई गई थी। कहा गया है कि फरवरी में हुई वीडियोग्राफी में मीटर रीडिंग 9334 थी। जबकि मीटर बदलते समय रीडिंग 1408 दिखाई है। इस तरह विभाग को चूना लगाया गया है। पत्र में कहा है कि बिलिंग एजेंसी के मीटर रीडर एवं सुपरवाइजर द्वारा आर्थिक स्वार्थ की पूर्ति के लिए न केवल मीटर रीडिंग स्टोर कराई जा रही है, वहीं मीटर बदलवाने की कार्रवाई की जा रही है। विभाग की हुई आर्थिक क्षति की पूर्ति के लिए बिलिंग एजेंसी में से उक्त धनराशि कटवाई जाए।

उक्त प्रकरण संज्ञान में आया है। बिलिंग कंपनी पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। विभाग को आर्थिक नुकसान नहीं होने दिया जाएगा।

-सचिन कुमार शर्मा, एक्सईएन फर्स्ट, देहात विद्युत वितरण मंडल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Without changing the information correct meter recommendation for cutting Unit changed to show less meter