DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मथुरा  ›  वैक्सीनेशन लगवाने के लिए ग्रामीण रख रहे शर्तें

मथुरावैक्सीनेशन लगवाने के लिए ग्रामीण रख रहे शर्तें

हिन्दुस्तान टीम,मथुराPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:31 AM
वैक्सीनेशन लगवाने के लिए ग्रामीण रख रहे शर्तें

मथुरा/मांट। कोरोना टीका को अभी कुछ लोग मजाक ही मान रहे हैं। तभी तो स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा टीका लगवाने की कहने पर उनके समक्ष अजीब शर्तें रखी जा रही हैं। कोई पांच लाख मांग रहा है, कोई दस हजार तो कोई इस बात की गारंटी मांगता है कि टीकाकरण के बाद उन्हें कुछ नहीं होगा। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के सामने अजीबोगरीब स्थिति बन है।

उच्च अधिकारियों के निर्देश हैं कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोरोना टीका लगाने के लिए उनके नजदीक ही शिविर लगाए जाएं। निर्देश के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम हर दिन तीन गांवों में शिविर लगा कर वैक्सीनेशन कर रही है। शनिवार को छांहरी, आशा गढ़ी और नन्द नगरिया में विशेष शिविर लगाए गए। छांहरी में एसडीएम श्याम अवध चौहान, एक नायब तहसीलदार व सीएचसी अधीक्षक डॉ. विकास जैन भी पहुंचे। डोर टू डोर ग्रामीणों से संपर्क किया, पर कोई पैसे की मांग कर रहा था तो कोई वैक्सीन के बदले में स्वस्थ रहने की गारंटी मांग रहा था। इस स्थिति के चलते यहां पर मात्र 10 लोगों के टीके लग सके। जबकि इन गांव की आबादी करीब 1700 है और 45 प्लस के यहां पर करीब 600 लोग हैं।

कई जगह मिलती हैं गालियां

वैक्सीनेशन के दौरान स्वाथ्य विभाग की टीम को गालियां तक सुनने को मिल रही हैं। पिछले दिनों पानीगांव में भी कुछेक ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम से बदसलूकी की थी। वहीं शुक्रवार को ढहरुआ में एक झोला छाप ने ग्रामीणों को वैक्सीन के खिलाफ भड़का दिया था।

ग्राम प्रधान नहीं कर रहे सहयोग

सीएचसी अधीक्षक डॉ. विकास जैन का कहना है कि ज्यादातर नव निर्वाचित प्रधान कोरोना वैक्सीनेशन व कोरोना जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। इसके चलते दोनों ही कार्यों का टारगेट पूरा करने में दिक्कत आ रही हैं। जबकि जिस गांव में शिविर लगाया जाता है, एक दिन पूर्व संबंधित प्रधान को जानकारी उपलब्ध करा दी जाती है।

संबंधित खबरें