DA Image
5 दिसंबर, 2020|5:02|IST

अगली स्टोरी

वाल्मीकि रामायण से किया सनातन धर्म का प्रचार

वाल्मीकि रामायण से किया सनातन धर्म का प्रचार

ब्रजभूमि कल्याण परिषद के तत्वावधान में रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि की जयंती कैमारवन स्थित श्रीराम आश्रम विजय राघव कुंज में मनाई गई, जिसमें वाल्मीकि महाराज का पूजन अर्चन कर उनके जीवन पर प्रकाश डाला। साथ ही महंत रामभूषण दास महाराज को सनातन गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने रामायण महाकाव्य की रचना कर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के चरित्र को आत्मसात करने का संदेश दिया। कहा कि वह श्रीमद्भागवत कथा के साथ-साथ ब्रज चौरासी कोस का भी प्रचार-प्रसार निरंतर करते रहते हैं। ताकि लोग ब्रज में आकर भगवान की लीलाओं का अवलोकन कर सकें। ब्रजभूमि कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहारीलाल वशिष्ठ ने कहा कि भारत भूमि सदैव संतों की भूमि रही है। महर्षि वाल्मीकि ने रामायण के द्वारा सनातन धर्म का जो प्रचार प्रसार किया वह सदैव स्मरणीय रहेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Valmiki propagated Sanatan Dharma through Ramayana