Two Bangladeshi youth caught by monk - साधुवेशधारी दो बांग्लादेशी युवक पकड़े DA Image
18 फरवरी, 2020|12:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साधुवेशधारी दो बांग्लादेशी युवक पकड़े

default image

धर्मनगरी के एक मंदिर में पिछले काफी समय से साधुवेश में रह कर भजन साधना कर रहे दो बांग्लादेशी युवकों को एलआईयू ने गिरफ्तार कर पुलिस के सुपुर्द किया है। बांग्लादेशी युवकों के रहने का खुलासा एडीजी कार्यालय को मिली शिकायत के आधार पर की जांच के दौरान हुआ।किसी व्यक्ति द्वारा एडीजी कार्यालय को वृंदावन में अवैध रुप से रह रहे दो बांग्लादेशी युवकों के बारे में जानकारी दी गई थी। एडीजी कार्यालय से एलआईयू को जांच सौंपी गई। सूचना में दिए गए नाम पते के आधार पर एलआईयू के एसआई उमेश शास्त्री द्वारा जांच शुरु की गई। पता चला कि दो युवक अपना असली नाम बदलकर पिछले करीब 7-8 साल से सेवाकुंज क्षेत्र स्थित इमलीतला आश्रम मंदिर में रह रहे हैं। जांच के दौरान पूछताछ के लिए दोनों युवकों को कोतवाली बुलाया गया। दोनों युवकों से जब उनके दस्तावेज मांगे गए तो उन्होंने दिल्ली से बनवाए गए आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट एवं ड्राइविंग लाइसेंस दिखाए। जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपनी असलियत स्वयं ही बयां कर दी। उन्होंने बताया कि वह करीब 20 वर्ष पूर्व बांग्लादेश से सीमा पार कर अवैध रुप से भारत में आए थे। कई साल तक इधर-उधर रहते हुए दिल्ली आ गए। यहां उन्होंने किसी तरह से आधार कार्ड, पेन कार्ड, पासपोर्ट और ड्रा‌इविंग लाइसेंस बनवा लिए। इसके बाद वह करीब 7-8 साल पूर्व वृंदावन आ गए। यहां सेवाकुंज क्षेत्र स्थित इमलीतला आश्रम मंदिर में अपने गलत नाम बताकर रहने लगे और यहां पर भजन कीर्तन आदि काम करने लगे। शास्त्री ने बताया कि इन युवकों से जब बांग्लादेश के कागजात मांगे तो वह कोई भी कागजात नहीं दिखा सके। पकड़े गए युवकों ने अपने नाम माधव दास उर्फ मनरंजन राय (36) पुत्र सागर चंद्र राय निवासी लक्ष्मीचाप जिला निलफामारी बांग्लादेश एवं चेतन्य दास उर्फ चेतन्य देव राय (33) पुत्र सुधीरचंद्र राय निवासी सिपाहीहार थाना पंचगढ़ बताए हैं। एलआईयू ने पकड़े गए दोनों बांग्लादेशी साधुवेशधारी युवकों को पुलिस के हवाले कर दिया है। बांकेबिहारी पुलिस चौकी प्रभारी विपिन गौतम ने बताया कि एलआईयू के एसआई उमेश शास्त्री की तहरीर पर दोनों बांग्लादेशी युवकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इनके विरुद्ध धोखाधड़ी कर फर्जी कागजात तैयार कर सरकारी तौर पर उपयोग करने एवं 14 विदेशी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two Bangladeshi youth caught by monk