DA Image
21 अप्रैल, 2021|11:47|IST

अगली स्टोरी

पलटने से बची त्रिवेन्द्रम एक्सप्रेस

default image

मथुरा। वृंदावन रोड और भूतेश्वर रेलवे स्टेशन के बीच गुरुवार की सुबह दिल्ली जा रही त्रिवेन्द्रम-निजामुद्दीन एक्सप्रेस पलटने से बच गई। ट्रैक पर रखे गए लोहे के टुकड़े से इंजन का व्हील क्षतिग्रस्त हो गया। चालक ने आपातकालीन ब्रेक लगा कर किसी प्रकार ट्रेन को रोका। वृंदावन रोड स्टेशन पर ट्रेन का इंजन बदल कर उसे आगे रवाना किया गया। आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक ने अज्ञात के खिलाफ आरपीएफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

जानकारी के अनुसार त्रिवेन्द्रम एक्सप्रेस गुरुवार की सुबह दिल्ली जा रही थी। ट्रेन सुबह 10:45 बजे भूतेश्वर और वृंदावन रेलवे स्टेशन के बीच थी तभी किलोमीटर संख्या 1402-14 के बीच लोहे का कोई टुकड़ा इंजन से टकराया। इससे ट्रेन को तेज झटका लगा, तो चालक ने तत्काल आपातकालीन ब्रेक लगाए और ट्रेन को रोक दिया। ट्रेन के चालक ने इसकी सूचना आगरा कंट्रोल को दी। लोहे का टुकड़ा पहिए के नीचे आ जाने से इंजन का एक पहिया क्षतिग्रस्त हो गया था। इंजन का पहिया क्षतिग्रस्त हो जाने के बाद चालक 20 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से ट्रेन को वृंदावन रोड स्टेशन लेकर पहुंचा। वहां पहिए को चेक किया गया। चालक ने इंजन के क्षतिग्रस्त पहिए पर ट्रेन को चलाने से इनकार कर दिया।

इसके बाद ट्रेन का इंजन बदला गया और उसे आगे रवाना किया गया। इसके बाद आरपीएफ आगरा सहायक कमांडेंट डीके चैहान, पीडब्ल्यूआई विजय बहादुर, सीएलआई सावन कुमार व वीके शर्मा मौके पर पहुंचे। तलाश करने पर मौके से किलोमीटर संख्या 1401-28-30 के बीच पेन्ड्रॉल क्लिप का आधा टुकड़ा डाउन ट्रैक पर पड़ा मिला। आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक सीबी प्रसाद ने अज्ञात के खिलाफ आरपीएफ थाने में मुकदमा पंजीकृत कराया है। मामले की जांच आरपीएफ उप निरीक्षक रमेश चंद्र द्वारा की जा रही है।

किसी शरारती बच्चे ने रेलवे ट्रैक पर पेन्ड्रॉल का टुकड़ा रख दिया था। इससे त्रिवेन्द्रम एक्सप्रेस ट्रेन का इंजन क्षतिग्रस्त हो गया। दूसरा इंजन लगा कर ट्रेन को आगे रवाना किया गया। आरपीएफ थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

-डीके चैहान, सहायक कमांडेंट आरपीफ आगरा।

बता रहे बच्चों की शरारत

मथुरा। रेलवे ट्रैक पर पेन्ड्रॉल क्लिप रखने की घटना के बाद आरपीएफ और रेलवे अधिकारियों द्वारा तैयार किए गए ज्वाइंट नोट में बच्चों की शरारत बताया गया है। एक मंद बुद्धि बच्चे को इस मामले में पकड़ कर थाने भी लाया गया। उसके माता पिता ने आरपीएफ को बताया कि बच्चे का आगरा के मानसिक चिकित्सालय में इलाज चल रहा है। बच्चे के इलाज के कागजात भी परिजनों ने आरपीएफ को दिखाए।

पूर्व में रख दिया था स्लीपर

मथुरा। भूतेश्वर और वृंदावन रोड स्टेशन के बीच पटरियों पर लोहे के टुकड़े या स्लीपर रखने का यह पहला मामला नहीं है। पिछले वर्ष इसी रूट पर किसी ने सीमेंट का स्लीपर रख कर यात्री ट्रेन को पलटने का प्रयास किया था, जिसका मुकदमा रेलवे अधिकारी ने तब कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ दर्ज कराया था। उस मामले का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Trivandrum Express survived by reversal