DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोशल मीडिया पर शिक्षाधिकारी को बताया घूसखोर

सोशल मीडिया पर शिक्षक और शिक्षक संगठनों द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग और शिक्षाधिकारियों को फिर निशाने पर लिया जा रहा है। सार्वजनिक रूप से एक शिक्षाधिकारी को घूसखोर बताया जा रहा है। फेसबुक पर की गई इस पोस्ट पर शिक्षक कमेंट कर शिक्षाधिकारियों को खुलेआम भ्रष्टाचारी बताने से नहीं हिचक रहे हैं। फेसबुक पर अखिल भारतीय यूटा नामक यूजर ने कुछ दिन पहले पोस्ट किया, जिसमें लिखा, खबर जनपद मथुरा से, एक खंड शिक्षाधिकारी बिना घूस के नहीं करता कोई काम, नहीं सुधरा तो उतरेगा भूषण। घूसखोरी का आरोप लगाते हुए की गई पोस्ट पर यूजर पुष्पेन्द्र सिंह चौधरी ने लिखा कि नीलकंड महादेव का अभिषेक होगा, तांडव होगा मां दुर्गा का। इसके बाद पोस्ट करने वाले यूजर ने कमेंट बॉक्स में लिखा कि एकांत स्थान पर मिलने की आदत है, इस घूसखोर को। एक अन्य यूजर विनीत पाराशर ने लिखा, सस्पेंड बहाली के खेल में एक बाबू के द्वारा लिए हैं 30-30 हजार रुपये। शिक्षाधिकारियों के खिलाफ सार्वजनिक रूप से ऐसे आरोप लगाते हुए पहली बार पोस्ट नहीं हुई है, लेकिन शिक्षा विभाग द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने से शिक्षक और संगठनों के हौसले बढ़े हुए हैं। एबीएसए चंद्रभूषण प्रसाद ने बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। देखने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Told bureaucrats Bribeer on social media education officer