DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वॉट-पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़े कर्मवीर के सुपारी किलर

स्वॉट टीम व छाता पुलिस ने कैबिनेट मंत्री के रिश्तेदार सरमन प्रधान के हत्यारोपी कर्मवीर को गोली मार मौत के घाट उतारने वाले 7 हत्या आरोपी व षडयंत्रकारियों को पकड़ लिया है। सरमन प्रधान के बेटों और भतीजे ने 17 लाख की सुपारी देकर कर्मवीर को ठिकाने लगवाया था।

एसपी देहात आदित्य शुक्ला ने बताया 16 अगस्त को कैबिनेट मंत्री चौ. लक्ष्मीनारायण के रिश्तेदार गोहारी निवासी सरमन प्रधान के हत्यारोपी कर्मवीर को पुलिस अभिरक्षा में गोली मार दी गई थी। बाद में उपचार के दौरान कर्मवीर की मौत हो गयी थी। रविवार को स्वॉट टीम प्रभारी प्रदीप कुमार व प्रभारी निरीक्षक छाता शिवप्रताप सिंह ने एक सूचना पर गोहारी मोड़ के पास अशर फैक्ट्री के सामने सुबह करीब 05.00 बजे मुठभेड़ के बाद रामवीर निवासी कोसी, गोविंद निवासी रिठौरी, भरतपुर, शिवा निवासी सेक्टर 15 फरीदाबाद हाल पता निवासी पलवल और सरमन प्रधान के भतीजे ज्ञानो उर्फ ज्ञानेंद्र निवासी गुहारी थाना छाता को 3 तमंचा व 6 कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया।

सुपारी किलर के साथ ऐसे हुआ था सौदा

एसपी देहात ने बताया कि कर्मवीर से पुरानी रंजिश और अपने ताऊ सरमन की हत्या का बदला लेने को ज्ञानेंद्र ने रामवीर, गोविंद सिंह, शिवा और अजीत को साढ़े 17 लाख रुपये मे कर्मवीर की हत्या को सुपारी दी थी, जिसमें 15 लाख रुपये रामवीर को एडवांस दिए गए। ज्ञानेंद्र ने बताया कि मौसी के लड़के अजीत ने रामवीर, गोविंद सिंह, शिवा से मेरी मुलाकात करायी थी। इसके बाद हमारा यह सौदा सरमन प्रधान के बेटों महेंद्र सिंह, ऊधम सिंह व गजेंद्र के सामने तय हुआ था। 16 अगस्त को कर्मवीर पर हमला कर दिया। रविवार की रात लोग ज्ञानेंद्र से शेष ढाई लाख रुपये लेने आए थे। पुलिस ने 4 षडयंत्रकारियों ज्ञानो उर्फ ज्ञानेन्द्र पुत्र महावीर सिंह, महेन्द्र सिंह, ऊधम सिंह और गजेन्द्र को भी पकड़ लिया, जबकि अजीत फरार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Swat-chatta police caught the killer of Karmaveer