DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मथुराचित्रकूट पर श्रीमद्भागवत कथा का हुआ विश्राम

चित्रकूट पर श्रीमद्भागवत कथा का हुआ विश्राम

हिन्दुस्तान टीम,मथुराNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 06:30 PM
चित्रकूट पर श्रीमद्भागवत कथा का हुआ विश्राम

श्री रामायण प्रचारिणी समिति द्वारा चित्रकूट मसानी पर आयोजित श्रीमद् भागवत कथा का सातवें दिन विश्राम हो गया। इस दौरान मुख्य अतिथि स्वामी डॉ. अवशेषानंद महाराज ने व्यास पीठ का पूजन कर व्यास साध्वी सरोजबाला का शॉल पहनाकर अभिनंदन किया।

उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली में भागवत करना-कराना व सुनना परम सौभाग्य है। प्रभु कहते हैं कोई ध्यान से, कोई दिग्दर्शन से, तो कोई कर्मयोग से उनका चिंतन करता है। किंतु जो अज्ञानी, निरीह प्राणी है उनका भागवत कथा, रामकथा श्रवण मात्र से ही कल्याण हो जाता है। संसार में व्यक्ति द्वारा किए पुण्य कर्म और उसकी भक्ति ही साथ जाती है। साध्वी सरोजबाला ने व्यासपीठ से प्रवचन में महारास, मथुरा गमन, कंस वध आदि लीलाओं का वर्णन करते हुए बताया कि प्रभु श्रीकृष्ण की सोलह हजार एक सौ आठ पत्नियां थीं। इनमें से आठ पटरानी थीं। उन्होंने वृंदावन की कुंज गलिन में खुशबू बिहारी जी की आती है भजन से आनंद रस वरसाया। इससे पूर्व यजमान कनकलता भटनागर, पल्लवी भटनागर, अध्यक्ष जुगलकिशोर अग्रवाल, महामंत्री लक्ष्मणप्रसाद यादव, संयोजक बृजेश अग्रवाल आदि ने व्यासपीठ का पूजन कर व्यास जी का अभिनंदन किया। मंत्रोच्चारण के साथ हवन में पूर्णाहुति व प्रसाद ग्रहण के साथ श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान-यज्ञ का विश्राम हुआ। संचालन राधाबिहारी गोस्वामी ने किया। इसमें लक्ष्मीनारायण सिंघल, वनबिहारी अग्रवाल, आशा अग्रवाल, पार्षद मीरा मित्तल, प्रवीन सिंह, सुशीला अग्रवाल, उषा देवी आदि रहे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें