DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिरोजी जरी के हिंडोले में झूले राजाधिराज द्वारिकाधीश

35 दिवसीय झूलनोत्सव के अंतर्गत राजाधिराज द्वारिकाधीश प्रभु रविवार को प्रिया संग फिरोजी जरी रंग के मनमोहक हिंडोले में झूले। हजारों भक्तों ने उत्सव का दीदार कर धर्म लाभ लिया।

पुष्टिमार्गीय संप्रदाय के मंदिर के सेवायत के निर्देशन में रविवार की सांध्य वेला में फिरोजी जरी रंग से सजे-संवरे स्वर्ण-रजत के हिंडोले में प्रभु को संग प्रिया के चल विग्रह विराजमान कर झुलाया। मुखिया ब्रजेश, सुधीर ने सहयोगियों संग भगवान तथा लक्ष्मी जी के श्री विग्रहों का अभिषेक-शृंगार किया। विविध भोग अरोगे। आरती उतारी। भीड़ में स्थानीय महिला-पुरुषों के अलावा रविवार को मथुरा पहुंचे विदेशी भक्त शामिल थे। बता दें कि रविवार को दूर दराज की कई दर्जन बसें भरकर मथुरा में आईं। कृष्ण जन्मभूमि व द्वारिकाधीश मंदिर में उन्होंने दर्शन किए और परिक्रमा की। जन्म भूमि व राजाधिराज के मार्गों पर इस भीड़ के चलते बार-बार जाम लगा।

मखमल का हिंडोला पड़ेगा आज

मंदिर प्रबंधन की व्यवस्था के अंतर्गत सोमवार को राजाधिराज द्वारिकाधीश प्रियतमा संग फिरोजी मखमल से सजे-संवरे हिंडोले में बैठकर झोटा लेंगे। सावन का पहला सोमवार होने के चलते इस उत्सव में रविवार से अधिक भीड़ होने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rajadhiraja Dwarkikshish swing in Firozi Jari's hindola