DA Image
11 जुलाई, 2020|6:52|IST

अगली स्टोरी

कुंभ के दौरान गंगाजल उपलब्ध कराना रहेगी चुनौती

default image

यमुना किनारे लगन वाले वृंदावन कुंभ/संत समागम 2021 में गंगाजल का प्रवाह भी देखने को मिलेगा। हरनौल एक्केप से कुंभ/संत समागम के दौरान अतिरिक्त पानी यमुना में छोड़ा जाएगा। गंगाजल साधु-संतों एवं अन्य आगंतुकों के लिए मुख्यत: पेयजल और अन्य प्रयोगार्थ होगा। जलशक्ति विभाग और जलनिगम इसकी कार्ययोजना बना रहे हैं। यमुना शुद्धिकरण की मांग काफी पुरानी है। वृंदावन में कुंभ-संत समागम के दौरान भी यमुना की दशा पर स्वर उठेंगे। इसी के दृष्टिगत अधिकारी किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाहते। हालांकि दिल्ली से यमुना में शुद्ध पानी छुड़वाए जाने की संभावना कम हैं। ऐसे में यमुना में शुद्ध और अतिरिक्त पानी पूरे कुंभ आयोजन के दौरान अविरल बहेगा। हरनौल एस्केप से यमुना में अतिरिक्त पानी छोड़ा जाएगा। हालांकि हरनौल एस्केप से यमुना में पहले से ही गंगाजल छोड़ा जाता रहा है, लेकिन कुंभ के आयोजन के दौरान गंगाजल की मात्रा बढ़ा दी जाएगी। जलशक्ति विभाग और जलनिगम पर कुंभ/संत समागम के दौरान गंगाजल उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी है। कमिश्नर अनिल कुमार ने भी जमुना में अतिरिक्त पानी छोडे़ जाने एवं संत समागम में संतों एवं आगुन्तकों शुद्ध गंगाजल उपलब्ध कराने के संबंध में जल शक्ति विभाग एवं जल निगम को निर्देश दिए हैं। इसी के परिप्रेक्ष्य में जलशक्ति विभाग और जलनिगम इसकी कार्ययोजना तैयार करने में जुटे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Providing Ganga water during Kumbh will be a challenge