DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राथमिक शिक्षकों ने समायोजन के विरोध में फूंका बिगुल

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर बीएसए द्वारा मनमाने तरीके से किए गए समायोजन के विरोध में शिक्षकों ने धरना देकर आंदोलन का बिगुल फूंका।

जिला अध्यक्ष राजेश शर्मा ने आरोप लगाया कि शिक्षकों की समायोजन सूची के माध्यम से अधिकारियों द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। जिला मंत्री मनोज रावत ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र के शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालयों में समायोजन करना शिक्षकों के अधिकार का हनन है। उपाध्यक्ष विजय शर्मा ने कहा कि दिव्यांगों के प्रति भी संवेदनहीनता दिखाई गई है। महिला उपाध्यक्ष सुशीला चौधरी ने कहा कि महिलाओं को दूर व पुरुषों को नजदीक समायोजित करना महिलाओं के प्रति दुर्भावना प्रदर्शित करता है। जिला कोषाध्यक्ष अशोक सोलंकी ने कहा कि इस मामले में बीएसए की हठधर्मिता नहीं चलने दी जाएगी। कहा कि आंदोलन क्रमिक रुप से मांगे पूरी न होने तक जारी रहेगा। शूरवीर यादव ने बताया कि बीएसए द्वारा विद्यालयों में विषयों को दरकिनार करना शिक्षा का अधिकार अधिनियम के मानकों का खुला उल्लंघन किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि समायोजन सूची की अनियमितताओं के संबंध में प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा पूर्व में जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व शिक्षा निदेशक (बेसिक) को व्यक्तिगत रूप से अवगत कराया जा चुका है। इसके बावजूद समस्याएं जस की तस हैं। धरना दे रहे शिक्षकों ने समायोजन सूची को निरस्त करने की मांग की।

इस दौरान विजय चौधरी, रामबाबू सिंह, महेश अग्रवाल, केके भारद्वाज, गुरुप्यारी सत्संगी, अर्चना यादव, शालिनी हरियाणा, गायत्री प्रजापति, विमलेश सारस्वत, कुलदीप सारस्वत, मुकुलकांत, शांतनु, मुकेश, मनोज, नरेंद्र, कुलदीप, प्रेम किशोर, अंगूरी, सुधा, अजय आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Primary teachers flutter in protest against adjustment