DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाएं परिवार एवं समाज की रीढ़

ट्रिनिटी इंटरनेशनल की तरफ से कृष्णानगर स्थित जगदीश पंचकर्म सेंटर पर एमआरसी आयुर्वेदा वृन्दावन द्वारा एक वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस दौरान महिलाओं से संबंधित रोग व उनसे बचने के सुझाव दिए गए।

डा. सुनीता अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि आज महिलाएं स्वयं पर ध्यान नही देती हैं और छोटी बीमारियों को नजर अन्दाज करती हैं। इसी वजह से छोटी बीमारी बड़ी बीमारियों का रूप ले लेती हैं। महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। उन्हें दिनचर्या व्यवस्थित कर व्यायाम करना चाहिए। आयुर्वेद की डाक्टर तपस्या शर्मा ने कहा महिलाओं को बीमार होने पर सर्वप्रथम आयुर्वेदिक उपचार लेना चाहिए क्योंकि इससे शरीर में कोई भी दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। अगर स्वस्थ रहना है तो सबसे पहले अपने भोजन का समय निश्चित करना चाहिए। सुबह का नाश्ता 8 बजे बजे, दोपहर का भोजन एक बजे तक एवं रात्रि का भोजन सात बजे कर लेना चाहिए। रात्रि का भोजन हल्का होना चाहिए।

ऐसा करने से महिलाओं के बीमार होने के चांस बहुत कम होंगे। घर की महिलाएं स्वस्थ होंगी तभी उनका परिवार स्वस्थ रहेगा क्योंकि वह अपने परिवार की रीढ़ हैं। वर्कशॉप मे डा.ज्योति, शालिनी द्विवेदी, पूनम, दीपिका, सुदिपता, श्वेता, रूचि, निशा, सुलेखा, कविता, सारिका, सुनीता, रितु, मंजरी,डा. अनिता आदि उपस्थित थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Organized Health Workshop