DA Image
29 फरवरी, 2020|11:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किशोर का अपहरण कर हत्या के मामले में एक को आजीवन कारवास

default image

किशोर का अपहरण कर उसकी हत्या करने वाले को अपर जिला जज-6 संजय कुमार यादव ने आजीवन कारावास और 20 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। अभियुक्त की निशानदेही पर ही पुलिस ने किशोर के शव को बरामद किया था। शासन की ओर से इस मामले की पैरवी सहायक शासकीय अधिवक्ता ऊधम सिंह चौधरी द्वारा की गई।

नौहझील थाना क्षेत्र के ग्राम बरौठ में रहने वाला 14 वर्षीय लोकेश 11 फरवरी 2010 की शाम अचानक लापता हो गया था। किशोर के ताऊ देशराज सिंह ने गांव के ही ओमवीर पुत्र नेत्रपाल और एक किशोर पर अपहरण का शक जाहिर करते हुए नौहझील पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस ने ओमवीर से पूछताछ की तो वह टूट गया। अगले दिन 12 फरवरी को ओमवीर की निशानदेही पर नौहझील पुलिस ने समीप के गांव लालपुर के चरी के खेत से लोकेश का शव बरामद कर लिया था। पुलिस ने ओमवीर और एक नाबालिग के खिलाफ अपहरण कर हत्या व शव छिपाने की रिपोर्ट दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने ओमवीर और नाबालिग के खिलाफ न्यायालय में पेश किया। नाबालिग की सुनवाई जुबेनाइल कोर्ट में हुई, जबकि ओमवीर के मामले की सुनवाई अपर जिला जज 6 संजय कुमार यादव की अदालत में हुई। अदालत ने ओमवीर को अपहरण और हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास और 20 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। अभियुक्त जमानत पर था, सजा सुनाए जाने के बाद उसे हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। सहायक शासकीय अधिवक्ता ऊधम सिंह चौधरी ने बताया कि दोनों ओर से इस मामले में कुल 11 गवाह पेश हुए। नाबालिग अभियुक्त को जुबेनाइल कोर्ट से पूर्व में 3 वर्ष की सजा सुनाई जा चुकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:One gets life imprisonment in case of kidnapping of teenager