NGT points will be renewed compliance in goverdhan - एनजीटी के बिंदुओं का गोवर्धन में नए सिरे से होगा अनुपालन DA Image
13 दिसंबर, 2019|5:42|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनजीटी के बिंदुओं का गोवर्धन में नए सिरे से होगा अनुपालन

गोवर्धन में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के 17 बिंदुओं के दृष्टिगत नए सिरे से विकास कार्यों के प्रस्ताव कमिश्नर के. राममोहन राव ने मुख्य सचिव राजीव कुमार को सौंपे हैं। लखनऊ में मुख्य सचिव राजीव कुमार ने एनजीटी के सभी बिंदुओं की समीक्षा करते हुए 19 सितंबर की सुनवाई से पूर्व शेष कार्य निपटाने के निर्देश दिए हैं। कमिश्नर ने प्रस्ताव में बताया कि गोवर्धन बाईपास को सर्विस रोड से जोड़ा जाएगा। इनमें राधाकुंड और नंदगांव जैसे स्थानों का बाईपास से सीधा आवागमन होगा। जिला प्रशासन ने गोवर्धन परिक्रमा मार्ग को स्थायी तौर पर नो कंस्ट्रक्शन जोन घोषित किए जाने का प्रस्ताव दिया है। प्रदूषण पर नियंत्रण रखने और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए प्लांट की स्थापना की जाएगी। यह प्लांट आन्यौर, जतीपुरा और राधाकुंड में स्थापित किया जा सकता है। जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी ने मुख्य सचिव को परिक्रमा मार्ग में अवैध निर्माण हटाए जाने की जानकारी दी। चढ़ाए गए दूध के शोधन के लिए एजेंसी का चयन गिरिराज जी पर चढ़ने वाले दूध के शोधन को नागपुर की नीडी नामक संस्था का चयन किया गया है। इस दूध को अब स्टील टैंक में एकत्र करने की योजना है। यह कार्य गोवर्धन के दानघाटी, मानसी गंगा एवं जतीपुरा मंदिर में होगा। पूजा-अर्चना में उपयोग होने वाले दूध, इत्र, रोली, शहद, दही आदि के बाद दूध की टेस्टिंग होगी। नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (एनडीआरआई) के वैज्ञानिकों के साथ जिला प्रशासन एवं फूड विभाग के अफसरों की बैठक हो चुकी है। एनजीटी के प्रमुख बिंदु -परिक्रमा मार्ग सहित सर्विस रोड पर वाहनों पर प्रतिबंध -परिक्रमा मार्ग के किनारे सर्विस रोड और रिंग रोड निर्माण -सीवेज को एसटीपी में बदलकर स्थानीय लोगों को कनेक्शन -परिक्रमा मार्ग पर प्रदूषण व गंदगी फैलाने वालों पर कार्रवाई -परिक्रमा मार्ग से 200 मीटर दूरी पर वाहनों के लिए पार्किंग -संपूर्ण परिक्रमा मार्ग को नो कंस्ट्रक्शन जोन घोषित करना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NGT points will be renewed compliance in goverdhan