DA Image
12 अगस्त, 2020|12:33|IST

अगली स्टोरी

आयकर विभाग को नीरज के वारिसान की तलाश

default image

पत्नी और बच्चों सहित बुलियन कारोबारी की मौत के बाद आयकर विभाग को उनके वारिसान की तलाश है। आयकर विभाग ने नीरज अग्रवाल के वारिस के बारे में एसडीएम कार्यालय को पत्र भेज जानकारी मांगी है। एसडीएम कार्यालय ने आयकर विभाग को जवाब भेजा है कि वारिसान के लिए अभी कोई आगे नहीं आया है।

गौरतलब है कि एक जनवरी को सुबह बुलियन कारोबारी नीरज अग्रवाल, उनकी पत्नी नेहा, बेटी धान्या के शव यमुना एक्सप्रेस के सर्विस रोड पर कार में मिले थे, जबकि उनका बेटा शौर्य गंभीर अवस्था में मिला था। बेटे की भी बाद में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। चारों के गोली लगी थी। नोटबंदी के दौरान बुलियन कारोबारी नीरज अग्रवाल ने दर्जनों व्यापारियों के दो नंबर के पैसे को एक नंबर में करने के लिए काफी बड़ी मात्रा में सोने की खरीद की थी। इसके लिए कई खातों का प्रयोग किया था। इसकी शिकायत हुई तो वाणिज्य और आयकर विभाग की टीमों ने सभी खातों को खंगालना शुरू कर दिया। इसमें व्यापारी पर करोड़ों रुपये का अर्थदंड भी लगाया गया था।

नीरज अग्रवाल की परिवार सहित हत्या हो जाने पर आयकर विभाग को एसडीएम कार्यालय से इसकी जानकारी दी गई है कि मृतक नीरज अग्रवाल के माता-पिता और भाई यहां रहते हैं। उनसे कई बार संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने न तो वारिसान हेतु कोई अभिलेख उपलब्ध कराये हैं और ना ही कोई सूचना उपलब्ध करायी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Income tax department seeks Neeraj 39 s heir