DA Image
4 दिसंबर, 2020|2:08|IST

अगली स्टोरी

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति : पोशाक बनाकर आत्मनिर्भर बना रहीं स्नेह

उत्तर प्रदेश प्रो-पुअर पर्यटन परियोजना के तहत एक वर्ष पूर्व आदि शक्ति महिला समूह का गठन करके पोशाक बनाने का प्रशिक्षण लेने वाली स्नेह कुशवाह रोजाना 300 रुपये तक कमा रही हैं। एक वर्ष से वे समूह से जुड़ी 14 महिलाओं के साथ काम कर रही हैं। प्रत्येक महिला आठ से दस पोशाकें बना लेती हैं। उनके ग्रुप को डूडा से 10 हजार रुपये का रिवाल्विंग फंड भी मिल चुका है। अब वे इस काम को बड़े पैमाने पर करना चाहती हैं। शुरुआती दौर में वे छोटे दुकानदारों को अपनी पोशाकें बेचती थीं, लेकिन अब थोक में पोशाक बेचने का काम प्रारंभ किया है। स्नेह ने अपने हुनर से आर्टीफिशियल फ्लावर ज्वैलरी का काम भी शुरू किया है। वे चाहती हैं कि प्रत्येक महिला आत्मनिर्भर बने। स्नेह सभी को अपने पांव पर खड़ा करने में जुटी हुई हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Mission Shakti Affection remained self-sufficient by dress