अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मीरा बनीं हेमा, भाव नृत्य पर रीझे लोग

मीरा बनीं हेमा, भाव नृत्य पर रीझे लोग

ठा. राधारमण मंदिर में सेवा महोत्सव में सांसद एवं अभिनेत्री हेमा मालिनी की एक और छवि ने मुग्ध किया। उन्होंने सोमवार रात मीराबाई के भजनों नृत्य कर प्रभु को रिझाया। उनकी नृत्य प्रस्तुति देख मंदिर ठा. राधारमण लाल के जयकारों से गूंज उठा।

सोमवार रात रंग-बिरंगी रोशनी और मेवे-पुष्पों से सजे मंदिर के चौक में सांसद हेमामालिनी ने पहली बार ठा. राधारमण लाल के सामने मीराबाई के रूप में नृत्य प्रस्तुत किया। भावमय नृत्य के द्वारा उन्होंने प्रभु को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस अवसर पर देशी-विदेशी भक्तों ने जयकारे लगाए। आचार्य पुण्डरीक गोस्वामी ने कहा कि उत्साह ही उत्सव का मूल स्वरूप है। प्रीति से निवृत्ति सुलभ हो जाती है। इससे पूर्व कोलकाता से आए सरोद वादक आतिश मुखोपाध्याय, भजन गायक जेएसआर मधुकर एवं गायिका तेजस्वनी दीदी ने मीराबाई के भजनों की प्रस्तुति देकर मंत्रमुग्ध कर दिया।

वर्षों की इच्छा पूरी हुई : हेमा

उनकी इच्छा थी कि अपने आराध्य राधाकृष्ण की इस लीला भूमि में राधारानी और मीराबाई की के रूप में नृत्य प्रस्तुति देकर ब्रजवासियों को संगीत कला के साथ प्रभु की भक्ति की मनोरम अनुभूति कराएं। उनका वर्षों पुराना सपना आज पूरा हुआ। इससे पहले वृंदावन में ब्रज महोत्सव में मैंने राधारानी के रूप में प्रभु राधाकृष्ण लीलाओं का मंचन किया था और अब प्रभु राधारमण लाल ने मीराबाई के रूप में प्रस्तुति की इच्छा भी पूरी हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hema malini doing bhavnrity to become Meera