DA Image
27 फरवरी, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरुद्वारों में हुई गुरु गोविंद सिंह की जय-जयकार

default image

सिख संगत ने गुरुद्वारों में दशमेश पिता गुरु गोविंद सिंह की जय-जयकार की। धर्मगुरुओं ने गुरु के त्याग, बलिदान और हिंदू धर्म की सेवा का गुणगान किया।

भाई कन्हैया सेवक जत्था सेवकों ने गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार से धूमधाम से वाहे गुरु का खालसा, वाहे गुरु की फतह का उद्घोष करते हुए पालकी शोभायात्रा निकाली। यात्रा का जगह-जगह पुष्प बरसा कर स्वागत किया गया। पालकी को नगर निगम के मेयर मुकेश आर्य बंधु ने अपने कंधे पर रखकर कुछ दूर तक आगे बढ़ाया। नगर के विभिन्न क्षेत्रों से होकर निकली यात्रा मसानी स्थित गुरु नानक बगीची पर हुई। यात्रा में नानक दरबार के ग्रंथी गुरमेल सिंह, दलजीत सिंह, राजिंदर सिंह, जगदीश सिंह, सुखदेव सिंह आदि ने व्यवस्थाएं संभालीं।

गुरुनानकदेव जी का 353वां प्रकाश पर्व गुरु नानक बगीची पर धूमधाम से मनाया गया। केएल जुनेजा, सुनील अरोड़ा, सरबजीत सिंह हजूरी रागी जत्था सिंह सभा, हरजिंदर सिंह आगरा वाले ने कथा कीर्तन किया। अध्यक्ष रक्षपाल सिंह कलसी एड., सचिव प्रो. गुरचरन सिंह, भूषण जुनेजा, प्रताप मल्होत्रा, सुनील जुनेजा, कुलदीप सिंह, गौरव जुनेजा, नानक सिंह, राजिंदर सिंह होरा, रानी आहूजा, परमजीत सिंह, बबलू सिंह, डीएस चावला, गुलशन चावला, मुख्य ग्रंथी गोपी सिंह, सेवादार सोहन सिंह, देवी सिंह आदि ने व्यवस्थाएं संभालीं। बीएसए कालेज के राष्ट्रीय सेवा योजना के कोआर्डिनेटर प्रो. सतनाम सिंह व एनएचएम के सहयोग से रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Guru Govind Singh s cheers in gurudwaras