DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों ने बाजना बिजलीघर में जड़ा ताला

भाकियू कार्यकर्ताओं ने विद्युत विभाग की लापरवाही से तंग आकर रविवार को बाजना बिजलीघर में ताला ठोक दिया। इसके बाद अनिश्चितकालीन धरना व प्रदर्शन पर बैठ गए।

भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष राजकुमार तोमर के नेतृत्व में सैकड़ों किसान रविवार को सुबह से ही बाजना बिजलीघर पर जुटना शुरू हो गए। किसानों की मांग एसडीओ और जेई बाजना और नौहझील को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की थी। विभाग द्वारा बिजली के दामों की गई बढ़ोत्तरी वापस लेने की मांग भी शामिल की गई। वहीं, बाजना बिजलीघर के दो फीडर सेहूपट्टी और दिलूपट्टी को कस्बे से अलग करने पर जोर दिया। भाकियू के जिलाध्यक्ष राजकुमार तोमर ने कहा कि इस सरकार ने किसानों का शोषण किया है। चाहे वह बिजली के दामों को लेकर हो या फिर सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था। उन्होंने बिजली उपभोक्ताओं के खिलाफ गलत तरीके से हो रही एफआईआर तकाल प्रभाव से वापस नहीं लेने पर आंदोलन और उग्र करने की चेतावनी दी। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष चेतन सिंह, नीटू सिंह, अजय सरपंच, प्रेमचन्द, करुआ सिंह, रोहताश, देवेंद्र सिंह, गौतम फौजदार, मोहित पाठक, मनीष पाठक ने विचार व्यक्त किए। अध्यक्षता शीशपाल सिंह और संचालन नीटू सिंह ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers lock to power plant in bajna