Emphasis on learning and speaking mathil language at the conference - सम्मेलन में मैथिल भाषा सीखने और बोलने पर दिया जोर DA Image
19 नबम्बर, 2019|2:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सम्मेलन में मैथिल भाषा सीखने और बोलने पर दिया जोर

अखिल भारतीय श्री ब्रजस्थ मैथिल ब्राह्मण महासम्मेलन आगरा ने पंचम वार्षिक अधिवेशन एवं आदर्श सामूहिक विवाह समारोह हाइवे स्थित एक पैराडाइज में आयोजित किया। इसमें वक्ताओं ने मैथिल बंधुओं से मिथिला इतिहास जानने और मैथिली भाषा बोलने पर जोर दिया।कार्यक्रम के प्रथम चरण का शुभारंभ हवन से हुआ। हरिओम शर्मा, बद्रीनाथ शर्मा, सुरेश व निमेष शास्त्री ने विधि विधान से हवन कराया। अधिवेशन का शुभारंभ भगवान परशुराम व मां दुर्गा के चित्र समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। रमेश चंद शर्मा ने संगीत की प्रस्तुतियां देकर मन मोहा। समाज के ज्वलंत मुद्दों पर मंथन किया गया। मुख्य अतिथि बैद्यनाथ झा ने समाज में ऐसे कार्यक्रम समाज की उन्नति में सहायक बताए। विशिष्ट अतिथि गंगाधर पाठक ने कहा कि मिथिला का इतिहास अपनों को बताएं। समाज के उत्थान के लिए एकजुट होकर प्रयास करें। डा़ वेदनाथ चौधरी महासचिव विद्या सेवा संस्थान दरभंगा मिथिला भवन परिसर बिहार ने कहा कि हम सभी को मैथिली भाषा का ज्ञान होना चाहिए और समाज के सभी मित्रों को मैथिली भाषा सीखने का प्रयत्न करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Emphasis on learning and speaking mathil language at the conference