ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मथुराप्रादुर्भाव दिवस पर धर्मसम्राट करपात्री का किया वंदन

प्रादुर्भाव दिवस पर धर्मसम्राट करपात्री का किया वंदन

स्वामी करपात्री की जयंती दीर्घविष्णु मंदिर में मनाई गई। जिसमें सेवायत एवं विहिप के मठ मन्दिर प्रमुख कांतानाथ चतुर्वेदी ने कहा कि स्वामी करपात्री ने...

प्रादुर्भाव दिवस पर धर्मसम्राट करपात्री का किया वंदन
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मथुराMon, 01 Aug 2022 02:55 PM
ऐप पर पढ़ें

स्वामी करपात्री की जयंती दीर्घविष्णु मंदिर में मनाई गई। जिसमें सेवायत एवं विहिप के मठ मन्दिर प्रमुख कांतानाथ चतुर्वेदी ने कहा कि स्वामी करपात्री ने जीवन पर्यंत गोरक्षा आंदोलन के लिए संघर्ष किया। सन 1962 में स्वामी जी के नेतृत्व में हजारों संतों ने गो भक्तों के साथ संसद पर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर आचार्य ब्रजेन्द्र नागर, रामदास चतुर्वेदी पार्षद, देवेंद्र चतुर्वेदी महामंत्री रामराज्य परिषद, बालकृष्ण चतुर्वेदी, आचार्य मुरलीधर चतुर्वेदी, आचार्य राधावल्लभ आदि ने भी करपात्री का वंदन किया।

धर्मसम्राट स्वामी करपात्री महाराज का 115 वां प्रादुर्भाव उत्सव पानी घाट क्षेत्र वृंदावन परिक्रमा मार्ग में स्थित करपात्र धाम में मनाया। इसमें धर्मगुरुओं, संतों, विद्वानों ने करपात्री जी का नमन, वंदन, गुणगान किया। इस मौके पर करपात्री पर लिखी पुस्तक अभिनव शंकर का विमोचन हुआ। आयोजक स्वामी त्र्यंबकेश्वर महाराज ने धर्मगुरुओं, संतों, विद्वानों को पुस्तक भेंट की। स्वामी रामदेवानन्द सरस्वती की अध्यक्षता में आहूत उत्सव में मलूक पीठाधीश्वर राजेंद्रदास देवाचार्य, राम जन्मभूमि शिलान्यास के मुख्य पण्डित गंगाधर पाठक, राजाराम मिश्र, रामकृपाल त्रिपाठी, राम सुदर्शन मिश्र, विश्वेश्वर प्रपन्नाचार्य, महंत फूलडोलदास, बटोही झा, करुणा शंकर त्रिपाठी आदि मौजूद थे।

epaper