DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवकीनंदन ठाकुर मिली जान से मारने की धमकी

एससीएसटी ऐक्ट के संशोधन का विरोध करने वाले देवकीनंदन ठाकुर को फोन पर धमकियां मिलने लगी हैं। उनसे कहा जा रहा है कि अगर उन्होंने ऐक्ट का विरोध करना नहीं छोड़ा, तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा। देवकीनंदन ठाकुर की ओर से इस बारे में पुलिस को सूचित कर दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है।

बता दें कि देवकीनंदन ठाकुर इस ऐक्ट का खुलकर विरोध कर रहे हैं। उन्होंने गत दिनों विप्र सम्मेलन कर साफ कहा था कि यह ऐक्ट सहन नहीं किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने सवर्ण समाज का सम्मेलन करने के लिए भी वृंदावन में पंचायत की थी।

देवकीनंदन ठाकुर के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार विप्र सम्मेलन के बाद से रोजाना तमाम फोन यहां आ रहे हैं, जिस पर देवकीनंदन ठाकुर को गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी जा रही है। देवकीनंदन ठाकुर के पीए जगदीश ने बताया कि कार्यालय के बाहर लगे बोर्ड पर फोन नंबर लिखे हुए हैं। उन फोन पर लगातार धमकी आ रही हैं। कुछ वीडिओ भी आए हैं, जिसमें अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए मारने-काटने को कहा जा रहा है। कुछ फोन भीम सेना के नाम से भी आए हैं। इस बारे में उन्होंने वृंदावन कोतवाली को सूचित किया है, लेकिन वहां तहरीर नहीं ली गई है।

इस बारे में सीओ सदर ने बताया कि देवकीनंदन ठाकुर की ओर से सूचना मिली है। अभी कोई तहरीर नहीं मिली है, तहरीर मिलने पर जांच कराई जाएगी।

--------

ठाकुर देवकीनंदन महाराज ने रासमंडली से शुरू किया अपना कैरियर

छटीकरा। थाना सुरीर क्षेत्र के अंतर्गत गांव ओहावा में जन्मे ठाकुर देवकीनंदन महाराज ने शुरुआत में रामस्वरूप शर्मा की रासमंडली में अपना अभिनय करना शुरू किया। करीब आठ वर्ष तक वह रासमंडली में रहे। इसके बाद उन्होंने वृन्दावन में भागवत कथा का अध्ययन करना शुरू किया और फिर भागवत वक्ता के रूप में अपनी पहचान बनाई।

भागवत कथा के जरिए विख्यात होते हुए वह देश में सनातन धर्म का प्रचार प्रसार कर रहे हैं। निम्बार्काचार्य पीठाधीश्वर संत श्री राधासर्वेश्वर शरण देवाचार्य महाराज ने उन्हें शांति दूत की उपाधि से सम्मानित किया था। शंकराचार्य स्वरूपानंद महाराज ने उन्हें धर्मरत्न की उपाधि से अलंकृत किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Devkinandan Thakur found threat to kill