DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मथुरा  ›  गंगा दशहरा से पूर्व यमुना में शुद्ध जल छोड़ने की मांग
मथुरा

गंगा दशहरा से पूर्व यमुना में शुद्ध जल छोड़ने की मांग

हिन्दुस्तान टीम,मथुराPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:30 PM
गंगा दशहरा से पूर्व यमुना में शुद्ध जल छोड़ने की मांग

वृंदावन। गंगा दशहरा पर्व पर प्रति वर्ष की भांति इस बार भी यमुना स्नान की प्राचीन परंपरा का निर्वहन करने के लिए आगामी 20 जून को हजारों भक्तजन धर्मनगरी के विभिन्न यमुना घाटों पर जाएंगे। ऐसे में भक्तों ने गंगा दशहरा से पूर्व जिला प्रशासन से यमुना में शुद्ध गंगाजल छोड़ने की मांग की है। साथ ही लोगों का कहना है कि गंगा दशहरा के लिए नगर निगम द्वारा अभी तक श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। जिसके कारण यमुना स्नान और पूजन-अर्चन को आने वाले हजारों श्रद्धालुओं को भारी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। लोगों ने यमुना के प्राचीन घाटों पर विशेष सफाई अभियान चलाएं जाने की मांग की है। कहा कि यदि समय रहते यमुना में शुद्ध गंगाजल का प्रवाह नहीं छोड़ा गया तो श्रद्धालु गंदगी से पूर्ण यमुना जल में स्नान करने के लिए बाध्य होंगे।

गंगा दशहरा पर्व पर यमुना स्नान व पूजन अर्चन करने की परंपरा सैकड़ों वर्ष पुरानी है, लेकिन जिस तरह से वर्तमान में यमुना की स्थिति है। उसको देखते हुए प्राचीन परंपरा का निर्वहन करना भी बेहद मुश्किल हो गया है। शासन-प्रशासन को चाहिए कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को देखते हुए कम से कम गंगा दशहरा के दिन तो यमुना में शुद्ध जल प्रवाह की व्यवस्था करें।

-श्यामसुंदर गौतम

यमुना में व्याप्त प्रदूषण को रोकने के लिए शासन प्रशासन द्वारा कोई ठोस कार्य न किया जाना बेहद निराशाजनक है। यमुना में लगातार गिर रहे नाले नालियों का गंदा पानी भी यमुना को और अधिक प्रदूषित कर रहा है। प्रशासन में नाले-नालियों के गंदे पानी को रोकने के लिए कोई व्यवस्था करनी चाहिए। यही स्थिती रही तो गंगा दशहरा पर यमुना स्नान की परंपरा निभाना लोगों के लिए बेहद मुश्किल होगा।

-केदार भगत

संबंधित खबरें