ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मथुरातेजी से घट रहे कंटेनमेंट जोन, अब 80 रह गए

तेजी से घट रहे कंटेनमेंट जोन, अब 80 रह गए

मथुरा। लॉकडाउन के दौरान जैसे जैसे कोरोना का प्रभाव कम हुआ, वैसे वैसे अब कंटेनमेंट जोन भी कम होते जा रहे हैं। अनलॉक के पहले दिन मंगलवार तक मथुरा...

तेजी से घट रहे कंटेनमेंट जोन, अब 80 रह गए
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मथुराWed, 02 Jun 2021 04:50 AM
ऐप पर पढ़ें

मथुरा। लॉकडाउन के दौरान जैसे जैसे कोरोना का प्रभाव कम हुआ, वैसे वैसे अब कंटेनमेंट जोन भी कम होते जा रहे हैं। अनलॉक के पहले दिन मंगलवार तक मथुरा वृंदावन में 80 कंटेनमेंट जोन शेष रह गए हैं। सर्वाधिक 30 कंटेनमेंट जोन हाइवे थाना क्षेत्र में हैं, जबकि सबसे कम 5 कंटेनमेंट जोन रिफाइनरी क्षेत्र में हैं।

वर्तमान में जिन थाना क्षेत्रों में सील लगाई गई है, उनमें थाना कोतवाली के माधवपुरी, आनंदपुरी, प्रकाश नगर, नगला भोलानाथ, कैलाशनगर, मधुबन इन्कलेव, साकेतपुरी, गोपालनगर, संतोषपुरा और कलाकुंज कालोनी आदि के 21 कंटेनमेंट जोन पर सील लगाई गई है। थाना वृंदावन के संयुक्त चिकित्सालय, बैकुंठ ग्रीन रोड, पुष्पांजलि बैकुंठ, तट बाबा फाउंडेशन, रामस्वरूप पांडाल, श्रीकृष्ण लोक, रामसेवा आश्रम, मदनमोहन घेरा आदि के 18 स्थानों पर सील लगाई है।

थाना गोविंदनगर के गली रामल्या, ओमनगर, मल्लपुरा और डीगगेट आदि के 6 स्थानों पर सील लगी है। थाना सदर बाजार के जिला कारागार कैदी अस्पताल, सीएमओ ऑफिस, राजकीय बाल शिशु गृह और श्रीरामधाम कालोनी आदि के 6 स्थानों पर सील लगी है।

थाना हाइवे के चंदनवन फेस-1, पुष्पांजलि उपवन, लाजपत नगर, शिवासा स्टेट, विश्वलक्ष्मीनगर, भगवती विहार, कृष्णा आर्चिड, अजय नगर और गणेशरा स्टेडियम आदि 30 स्थानों पर सील लगी है।

थाना रिफाइनरी के टाउनशिप, कांशीराम कालोनी, विश्वधाम कालोनी, सीआईएसएफ एमआर नगर और ओमकारेश्वर कालोनी के 5 स्थानों पर सील लगी है।

जनपद में कुल 364 सक्रिय मरीज

मथुरा। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने अवगत कराया है कि मथुरा जनपद में कोविड-19 के कुल 20199 में से 19524 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो गये हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में 32 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं तथा वर्तमान में कुल 364 सक्रिय मरीज हैं। उन्होंने बताया कि 8 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज निकले हैं। डीएम ने कहा कि सफाई, दवाई और कड़ाई से कोरोना को हराने में कामयाबी मिलेगी। उन्होंने बताया कि निगरानी समिति के कायोंर् की समीक्षा प्रतिदिन की जाएगी तथा कंटेंमेंट जोन की निगरानी सख्ती के साथ की जा रही हैं।

epaper