DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मथुरा  ›  यमुना प्रदूषण से आक्रोशित हैं चतुर्वेद तीर्थ पुरोहित

मथुरायमुना प्रदूषण से आक्रोशित हैं चतुर्वेद तीर्थ पुरोहित

हिन्दुस्तान टीम,मथुराPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:30 AM
यमुना प्रदूषण से आक्रोशित हैं चतुर्वेद तीर्थ पुरोहित

मथुरा। श्री माथुर चतुर्वेद परिषद की एक आपातकालीन बैठक में विश्राम घाट पर जल के नाम पर केवल प्रदूषित गंदगी का साम्राज्य पर गहरा रोष व्यक्त किया गया।

पीरपंच स्थित अपने ‌आवास पर बैठक की अध्यक्षता करते हुए परिषद के मुख्य संरक्षक महेश पाठक ने कहा कि यमुना के नाम पर शासन प्रशासन द्वारा और कुछ संस्थाओं द्वारा बहुत बड़ी-बड़ी बातें की जाती हैं, लेकिन धरातल पर कोई कार्य नजर नहीं आता है। इससे भक्तों को ठेस पहुंचती है। परिषद अध्यक्ष राकेश चतुर्वेदी जोर्ड ने कहा मां यमुना को प्रदूषण मुक्त कराने के लिए हम हर संभव प्रयास करेंगे। संचालन करते हुए महामंत्री राकेश तिवारी एडवोकेट ने कहा कि वर्तमान में चूंकि कोरोना महामारी चल रही है और फैक्ट्रियों का प्रदूषित जल भी नहीं आ रहा है। इस समय यमुना एकदम निर्मल स्वच्छ दिखनी चाहिए, लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन न किए जाने से जो गंदे नाले हैं वह यमुना में प्रवाहित हो रहे हैं और उनकी तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस अवसर पर नवीन नागर, गिरधारी लाल पाठक, मनोज पाठक, संजय एल्पाइन, कमल चतुर्वेदी मौला, संजीव चतुर्वेदी एडवोकेट, गोपाल चतुर्वेदी एडवोकेट, अमित चतुर्वेदी, नीरज चतुर्वेदी, अनुज पाठक, अमित पाठक, राजकुमार कप्पू, अनिल पमपम, पार्षद रितेश पाठक आदि ने एक स्वर से चेतावनी दी गई अगर यमुना की स्वच्छ की नहीं की तो परिषद् किसी भी आंदोलन के लिए अपनी अगली बैठक में रणनीति बनाएगी।

संबंधित खबरें