Braj s educated unemployed forced to go to work in metropolitan cities - ब्रज के शिक्षित बेरोजगार महानगरों में नौकरी के लिए जाने को मजबूर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रज के शिक्षित बेरोजगार महानगरों में नौकरी के लिए जाने को मजबूर

बात भले ही सभी दल युवाओं की करते हों लेकिन लोकसभा चुनाव में शिक्षित बेरोजगार का मुद्दा गुम हो गया है। यही कारण है कि जनपद में शिक्षित बेरोजगारों की लंबी कतार लगी है। वह नौकरी के लिए ब्रज को छोड़ दूसरे शहरों की ओर रुख कर रहे हैं।

मथुरा में 14741 शिक्षित बेरोजगार जिला सेवायोजन कार्यालय में रजिस्टर्ड हैं। इनमें 13314 पुरुष और 1427 महिलाएं शामिल हैं। सेवायोजन कार्यालय में प्रतिमाह 400 शिक्षित बेरोजगार रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं। काबिलेगौर बात यह है कि रजिस्टर्ड बेरोजगारो में ग्रेजुएट 3109 और पोस्ट ग्रेजुएट 1370 हैं। इंजीनियर की पढ़ाई कर नौकरी की तलाश में भी ब्रज के 90 युवा हैं। शिक्षित बेरोजगारों की बड़ी संख्या के बीच सेवा योजन कार्यालय एक भी बेराजगार को सरकारी नौकरी नहीं दिला सका। जबकि पूरे वर्ष में छह रोजगार मेला लगाकर मात्र 712 लोगों को निजी कंपनियो में नौकरी दे सका। ब्रज में जबर्दस्त बेरोजगारी के कारण शिक्षित बेरोजगार ब्रज को छोड़कर दिल्ली, गुड़गांव और अन्य महानगर की ओर जा रहे हैं और वहां नौकरी करने करने को मजबूर हैं। इस बात की तस्दीक प्रतिदिन सुबह दिल्ल्ली के लिए जाने वाली ईएमयू और अन्य ट्रेनों में हो सकती है। जिनमें बड़ी संख्या में युवा दिल्ली के लिए जाते हैं और नौकरी कर रात्रि में वापस आते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Braj s educated unemployed forced to go to work in metropolitan cities