DA Image
4 अगस्त, 2020|6:54|IST

अगली स्टोरी

मुड़िया मेला में भीड़ रोकने में प्रशासन की रणनीति कामयाब

मुड़िया मेला में भीड़ रोकने में प्रशासन की रणनीति कामयाब

मुड़िया पूर्णिमा मेला निरस्त होने के बाद भीड़ रोकने के लिए प्रशासन की रणनीति कामयाब हो गई है। मेला के पहले दिन बुधवार को परिक्रमा में श्रद्धालु नहीं दिखे। मुड़िया मेला 1 से 5 जुलाई तक लगना था लेकिन कोरोना संक्रमण काल के चलते शासन के दिशा-निर्देश पर प्रशासन ने स्थानीय मंदिरों के सेवायत व जनप्रतिनिधियों से वार्ता कर मेला को निरस्त करने की सहमति बना ली गई।

अब प्रशासन के सामने भीड़ को रोकने की चुनौती थी। अभी मेला के चार दिन शेष हैं। प्रशासनिक अधिकारी मेला क्षेत्र के साथ-साथ बैरियर व सील प्वाइंटों पर नजर बनाये हुए है। मेला के पहले दिन एडीएम प्रशासन सतीश कुमार त्रिपाठी ने बैठक कर भीड़ रोकने की तैयारियों की समीक्षा की। एसपी देहात श्रीशचंद ने बैरियर व सील क्षेत्र का निरीक्षण किया। ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों से बाहरी वाहन के प्रवेश पर कार्रवाई के निर्देश दिये। एसडीएम राहुल यादव ने बताया कि मुड़िया मेला निरस्त होने के बाद भीड़ की आशंका को देखते हुए रणनीति के तहत इंतजाम किये गये, जिसमें पहले दिन लोगों के आने-जाने के रास्तों को रोक दिया है। स्थानीय लोगों के प्रवेश पर रोक नहीं लगी है। लेकिन कोरोना संक्रमण काल में लोग बेवजह न निकलें।

एडीएम प्रशासन सतीश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मुड़िया पूर्णिमा मेला निरस्त हो गया है। होर्डिंग व बेरीकेडिंग लगा दिये गये हैं। 12 प्वाइंटों पर नजर रखने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। लोगों की सुरक्षा जरूरी है। स्थानीय लोगों की परिक्रमा पर भी रोक है। बाहर से आने वाली गाड़ियों को वापिस कर रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Administration 39 s strategy succeeded in stopping the mob in Mudia Mela