DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मैनपुरी  ›  मैनपुरी में कार्रवाई पर अलीगढ़ में जमाए थे विपिन ने पैर

मैनपुरी मैनपुरी में कार्रवाई पर अलीगढ़ में जमाए थे विपिन ने पैर

हिन्दुस्तान टीम,मैनपुरीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:30 AM

मैनपुरी में कार्रवाई पर अलीगढ़ में जमाए थे विपिन ने पैर

अलीगढ़ शराब कांड के सह आरोपी 50 हजार के इनामी विपिन यादव की गिरफ्तारी कर ली गई। मैनपुरी में माफिया का नेटवर्क ध्वस्त करने के बाद उसने अलीगढ़ में पैर जमा लिए थे। पिछले चार सालों से जनपद पुलिस इस धंधे का नेटवर्क तोड़ने में जुटी है। इस दौरान चार हजार से अधिक आरोपियों को गिरफ्तार किया और 250 से अधिक शराब की भट्ठियां नष्ट कर शराब माफिया की कमर तोड़ दीं।

जनपद पुलिस ने अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाकर टॉप-10 शराब माफिया को सलाखों के पीछे पहुंचाया है। उन माफिया पर शिकंजा कसा गया जिन पर पुलिस हाथ डालने से भी बचती थी। पुलिस ने इनके खिलाफ अभियान शुरू किया तो करोड़ों की संपत्ति जब्त कर ली गई और माफिया को जेल पहुंचा दिया गया।

एसपी अविनाश पांडेय का कहना है कि मैनपुरी जनपद में अवैध शराब के निर्माण और बिक्री रोकने के लिए सभी थानों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। लगातार शराब के खिलाफ चलने वाले अभियान की मॉनीटरिंग भी कराई जा रही है। यही वजह है कि पड़ोसी राज्यों और जिलों से होने वाली शराब की अवैध तस्करी रोकने में मैनपुरी पुलिस सफल हुई है।

इंसेट

चार वर्षों में चार हजार से अधिक की हुई गिरफ्तार

मैनपुरी। जनपद पुलिस ने पिछले चार सालों में शराब के खिलाफ लगातार अभियान चलाया है। अभियान के दौरान 2017 में आबकारी अधिनियम के तहत 784, 2018 में 855, 2019 में 890, 2020 में 954 और 2021 में 15 मार्च तक 132 मुकदमे दर्ज किए। इन चार वर्षों में 24.87 प्रतिशत विरोधात्मक कार्रवाई शराब की धंधे पर की गई। आबकारी अधिनियम के तहत 2017 में 32 लाख से अधिक की शराब नष्ट कर 47 शराब की भट्ठियां तोड़ी गई।

पिछले वर्ष तोड़ी गई थीं शराब की 60 भट्ठियां

मैनपुरी। वर्ष 2018 में एक करोड़ आठ लाख की शराब बरामद कर 47 शराब की भट्ठियां और एक शराब की फैक्ट्री को पकड़ा गया। 2019 में जनपद पुलिस ने 89 लाख रुपये की शराब बरामद की और 69 शराब की भट्ठियां तथा दो शराब की फैक्ट्री पकड़ी। 2020 में 45 लाख की शराब बरामद कर 60 शराब की भट्ठियां पकड़ी। इन चार वर्षों में पुलिस ने 4311 माफिया और कारोबारियों को गिरफ्तार किया। चार वर्षों में 3615 मुकदमे आबकारी अधिनियम की धाराओं में दर्ज किए गए।

मैनपुरी पुलिस शराब के अवैध कारोबार को नेस्तनाबूद करने में जुटी है। यहां के माफिया या तो जेल में है या फिर जनपद छोड़कर भाग गए हैं। माफिया की करोड़ों की संपत्ति सीज हुई है। जनपद पुलिस हर रोज अभियान चलाकर शराब के कारोबार पर शिकंजा कसती रहेगी।

- अविनाश पांडेय, एसपी मैनपुरी

संबंधित खबरें