DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मैनपुरी › किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी को बीस साल की सजा
मैनपुरी

किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी को बीस साल की सजा

हिन्दुस्तान टीम,मैनपुरीPublished By: Newswrap
Sat, 18 Sep 2021 04:21 AM
किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी को बीस साल की सजा

दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के एक आरोपी को कोर्ट ने 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। आरोपी पर 20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। न्यायाधीश रेप एंड पॉक्सो एक्ट कोर्ट अनीता सिंह ने शुक्रवार को यह सजा सुनाई। लगाए गए जुर्माने में से 15 हजार रुपये पीड़िता को देने के निर्देश भी न्यायाधीश ने दिए हैं। आरोपी के खिलाफ पांच वर्ष पूर्व बेवर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तब से आरोपी जेल में ही है।

27 दिसंबर 2016 को थाने पहुंचे पिता ने पुलिस को तहरीर देकर शिकायत की थी कि उसकी 15 वर्षीय पुत्री अचानक घर से गायब हो गई। उसे रिश्तेदारी में पता किया गया लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। पिता ने जानकारी दी कि तलाशी के दौरान पता चला कि उसके घर में किराएदार के रूप में रह रहा साजिद अली पुत्र शाहिद अली निवासी टप्पनटोला अलीगंज एटा उसे अगवा कर ले गया है। पुलिस ने पिता की तहरीर पर आईपीसी की धारा 363, 376 और 3/4 पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया और पीड़िता को बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी को जेल भेजने के बाद जांच की और उसे दोषी मानते हुए कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी।

कोर्ट ने आरोपी को क्षमा योग्य नहीं माना

मैनपुरी। शुक्रवार को न्यायाधीश अनीता सिंह ने इस मामले की सुनवाई पूरी की। उन्होंने आरोपी को घटना के लिए दोषी ठहराया और उसे 20 साल कारावास की सजा सुनाई। 20 हजार रुपये जुर्माना भी आरोपी पर लगाया गया। न्यायाधीश ने आरोपी के अपराध को क्षमा योग्य नहीं माना। आरोपी ने शादीशुदा होते हुए भी पीड़िता के साथ संबंध बनाए जिसके चलते वह गर्भवती भी हो गई। न्यायाधीश ने उसे क्षमा का हकदार नहीं माना और दंडित किए जाने के योग्य कहा। मामले में पैरवी स्पेशल प्रॉसीक्यूटर अनूप यादव ने की।

संबंधित खबरें