DA Image
5 दिसंबर, 2020|4:50|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में शिक्षकों ने विद्यालय को बनाया सुंदर बगीचा

default image

लॉकडाउन में स्कूल बंद थे। ऐसे में स्कूल के कायाकल्प का संकल्प ले लिया गया है। शिक्षकों ने मेहनत की और स्कूल परिसर को आकर्षक गार्डन बना दिया। मंगलवार को खंड शिक्षाधिकारी सुमित कुमार ने स्कूल का निरीक्षण किया तो स्कूल के गार्डन को देखकर हैरान रह गए। उन्होंने स्कूल में की गई मेहनत के लिए शिक्षकों को बधाई दी और पुरस्कार भी दिया।

ग्राम जुन्हैसा स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में तैनात शिक्षक विमलेश कुमार व मानिकचंद्र ने लॉक डाउन के दौरान स्वयं की धनराशि से दिन रात मेहनत की और कई स्थानों से पौधे मंगाए। विभिन्न स्थानों से मंगाकर विद्यालय परिसर में 100 से अधिक पौधे लगाए गए। फुलवारी सजाई गई, बारिश में यह फुलवारी तैयार हुई तो पूरा स्कूल एक बगीचे में बदल गया। शिक्षक विमलेश, मानिकचंद्र ने बताया कि उनको बचपन से ही बागवानी का शौक रहा है। मार्च माह से शासन द्वारा कोरोना महामारी को हराने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के समय ने उनके लिए वरदान का काम किया। बीईओ सुमित कुमार का कहना है कि जनपद के अन्य शिक्षक भी इस स्कूल से प्रेरणा लें।

स्कूल में यह लगाए गए हैं पौधे

सिंगल चांदनी, डबल चांदनी, लाल, पीली और सफेद गुड़हल, सफेद कनेर, गोल्डन कनेर, चंपा, कचनार, सदाबहार, डहेलिया, मोरपंखी,मनी प्लांट, डूरांडा नीलकांटा, भिन्न किस्म के गुलाब, गुलदाउड़ी पिंक तथा सफेद, ऐलीफेंटा, हरसिंगार, लाल कनेर, रंगूर क्रीपर, तिकोना क्रीपर, इनरमी, बैरीकेटेड, चांदनी, सुदर्शन, सुहावनी, बागनबिलिया, विषगर्भी, फाइकस, रातरानी, बेला सहित अन्य किस्म की फुलवारी तथा छायादार वृक्षों में कंजी, शीशम, गूलर, पाकर, नीम, बालमखीरा, जामुन, पीपल, शहतूत, कदम, बकैना, अशोक, अमरूद व आम आदि।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The teachers made the school a beautiful garden in lockdown