DA Image
24 सितम्बर, 2020|5:09|IST

अगली स्टोरी

बची तालियां, बरसे फूल, नैगेटिव होकर घर लौटे डॉक्टर

बची तालियां, बरसे फूल, नैगेटिव होकर घर लौटे डॉक्टर

1 / 2मैनपुरी के लिए शुक्रवार को भी राहत भरी खबर आयी। आगरा के हॉस्पिटल से संक्रमित होकर आए डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव आयी है। शुक्रवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने इसकी पुष्टि की। जानकारी दी कि...

बची तालियां, बरसे फूल, नैगेटिव होकर घर लौटे डॉक्टर

2 / 2मैनपुरी के लिए शुक्रवार को भी राहत भरी खबर आयी। आगरा के हॉस्पिटल से संक्रमित होकर आए डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव आयी है। शुक्रवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने इसकी पुष्टि की। जानकारी दी कि...

PreviousNext

मैनपुरी के लिए शुक्रवार को भी राहत भरी खबर आयी। आगरा के हॉस्पिटल से संक्रमित होकर आए डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव आयी है। शुक्रवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने इसकी पुष्टि की। जानकारी दी कि डॉक्टर की दूसरी रिपोर्ट भी नैगेटिव आने के बाद उन्हें सीएचसी भोगांव से करहल स्थित आवास पर भेज दिया गया है। डॉक्टर को अब 14 दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा। डॉक्टर की रिपोर्ट नैगेटिव आयी तो शुक्रवार को सीएचसी के मेडिकल स्टाफ ने उन्हें बधाई देकर खुशी के माहौल में करहल रवाना किया।

आगरा के अस्पताल में डॉक्टर के रूप में तैनात डा. अमित जैन को आगरा में ही कोरोना संक्रमित हो गया था। इसके बाद वह मैनपुरी आ गए। जांच हुई तो उन्हें कोरोना संक्रमण निकला। जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डा. अमित को 13 अप्रैल को जांच के लिए सीएचसी भोगांव भेज दिया। कोरोना पुष्टि होने के बाद वहीं डॉक्टर को क्वारंटाइन करा दिया गया। सघन चिकित्सा निगरानी के बीच उनके दूसरे सैंपल की जांच कराई गई। ये जांच रिपोर्ट गुरुवार की शाम मैनपुरी प्रशासन को प्राप्त हो गई। जांच रिपोर्ट नैगेटिव प्राप्त होने के बाद शुक्रवार की सुबह डॉक्टर को सीएचसी भोगांव से करहल आवास पर होम क्वारंटाइन के लिए रेफर करा दिया गया। डॉक्टर को घर भेजने से पूर्व सीएचसी के स्टाफ और पुलिस बल ने स्वस्थ होने पर गुलाब के फूल देकर विदाई दी। उनके ठीक होने पर तालियां बजाई गईं। घर लौटने पर गुलाब के फूलों से उनका स्वागत भी किया गया।

एसएन कॉलेज से जुड़े डॉक्टर की रिपोर्ट का इंतजार

करहल। कस्बा करहल निवासी एक और डॉक्टर कोरोना का शिकार हुए हैं। उनका भोगांव सीएचसी में उपचार चल रहा है। आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में जूनियर रेजीडेंट के रूप में कार्यरत डॉक्टर को कोरोना की पुष्टि हुई तो उन्हें जिला प्रशासन ने भोगांव भेज दिया था। 20 अप्रैल को डॉक्टर ने खुद भोगांव जाकर जांच के लिए सैंपल दिया था। 22 अप्रैल को उन्हें भोगांव भेज दिया गया। अब इनकी रिपोर्ट का जनपद इंतजार कर रहा है। करहल के लोग इन डॉक्टर की रिपोर्ट भी नैगेटिव आने की भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The remaining applause rainy flowers doctors returned home after being negative