DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीड़ित पक्ष की रिपोर्ट भी नहीं लिखी, थाने से भगाया

पीड़ित पक्ष की रिपोर्ट भी नहीं लिखी, थाने से भगाया

27 जुलाई की शाम रास्ते के विवाद में दो पक्षों में हुई फायरिंग की घटना में पुलिस ने पीड़ित पक्ष को ही थाने में बैठा लिया। घटना से गुस्साए परिजन और ग्रामीण रविवार को कलक्ट्रेट पहुंचे। पहले एसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। इसके बाद सभी लोग शिकायत करने एसपी आवास पर पहुंच गए। एसपी ने पीड़ितों से बात की और एलाऊ पुलिस को फटकार लगाई। मामले में निष्पक्ष कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

रविवार को एलाऊ के ग्राम लुखरिया के पीड़ितों के साथ एसपी कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों का कहना था कि 27 जुलाई की शाम रास्ते के विवाद में गांव के ही दबंगों ने अरविंद पक्ष के लोगों पर हमला बोल दिया और अवैध हथियारों से फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग के दौरान अरविंद की बांह में गोली लग गई और वो घायल हो गया। अरविंद की पत्नी कुसुमा देवी ने एसपी से शिकायत की कि आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। एलाऊ पुलिस ने रिपोर्ट भी दर्ज नहीं की और पीड़ितों को थाने से भगा दिया।

एसपी ने निष्पक्ष कार्रवाई का दिलाया भरोसा

मैनपुरी। एसपी कलक्ट्रेट पर नहीं मिले तो पीड़ित आवास पर पहुंच गए। लुखरिया निवासी कुसुमा देवी, हरीसिंह, रनवीर सिंह, सुरेशचंद्र, अशोक, रजनी, नेकसीदेवी, महेश, मोहित, रामप्रसाद, बालादीन, मंशाराम, रमाकांत आदि ने एसपी से आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की और कहा कि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो आरोपी कोई बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। एसपी ने सभी को निष्पक्ष जांच और निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिलाकर वापस भेज दिया। हालांकि इस दौरान कोतवाली पुलिस भी जानकारी पाकर पहुंच गई। वहीं इस मामले में एसपी अजय शंकर राय का कहना है कि लुखरिया के पीड़ित पक्ष के लोग शिकायत लेकर आए थे। एलाऊ पुलिस को निष्पक्ष कार्रवाई कर दोषियों को जेल भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:police did not write report, The victims went to SP in Mainpuri