अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाबालिग किशोरी ने प्रेम संबंधों में विफल होने पर आग लगाई, मौत

रिश्ते के भाई और बहन की नाजायज प्रेम कहानी का बुधवार को दुखद अंत हो गया। लंबे समय से दोनों के बीच प्रेम संबंध चल रहे थे। संबंध जगजाहिर हुए तो दोनों के मिलन पर बंदिशें लगा दी गईं। उनके मिलने पर पहरा बैठा दिया गया, लेकिन दोनों घर वालों को चकमा देकर हिसार चले गए। दोनों के अरमान फिर भी परवान न चढ़ सके। भनक लगने पर परिजन दोनों को गांव ले आए। नाजायज प्रेम कहानी के मामले में गांव में पंचायत भी हुई। पंचों ने दोनों को जुदा करने का फरमान जारी कर दिया। पंचों के फरमान से खफा किशोरी ने बुधवार को आत्मदाह कर जान दे दी।

मामला बरनाहल थाना क्षेत्र के एक गांव से जुड़ा है। यहां की 16 साल की किशोरी के लंबे समय से रिश्ते के भाई से प्रेम संबंध चले आ रहे थे। लड़का और लड़की दोनों बेहद गरीब परिवार से हैं। कुछ दिन पहले दोनों की प्रेम कहानी जगजाहिर हो गई। दोनों के परिवारों और गांव वालों को प्रेम संबंधों की जानकारी हो गई। दोनों के परिजनों ने विरोध शुरू कर दिया। दोनों के मिलने पर रोक लगा दी गई। बताया गया है कि आठ दिन पहले प्रेमी युगल घर और गांव वालों को चकमा देकर हरियाणा के हिसार जा पहुंचे। दोनों के अरमान फिर भी परवान नहीं चढ़ सके। हिसार में रह रहे उनके गांव के लोगों ने प्रेमी युगल के परिजनों को इसकी जानकारी दे दी। लड़की और लड़के के परिजन दोनों को जबरन गांव ले आए, लेकिन दोनों एक-दूसरे से जुदा होने को कतई तैयार नहीं थे।

पंचायत में तोड़ दी गई थीं दोनों की सिम

आठ दिन पहले गांव में पंचायत हुई। पंचायत में दोनों परिवारों के साथ प्रेमी युगल भी पहुंचा। पंचों ने लड़के और लड़की दोनों के मोबाइल छीन लिए। मोबाइल से निकाल कर दोनों की सिम तोड़ दीं। पंचायत ने दोनों को जुदा होने का फैसला सुना दिया। बताते हैं कि पंचों के दबाव में लड़का गांव छोड़कर चला गया और लड़की को मैनपुरी उसके घर भेज दिया गया।

कमरे में बंद कर खुद को लगा ली आग

किशोरी को प्रेमी से जुदाई मंजूर नहीं थी। बताते हैं कि चार दिन पहले किशोरी बहन के घर से अपने गांव लौट आयी और गुमशुम रहने लगी। उसकी मां बीमार है और दो छोटे-छोटे भाई हैं। बुधवार को पिता जानवरों के लिए चारा लेने खेतों पर चला गया। सुबह 11 बजे करीब किशोरी ने खुद को कमरे में बंद कर लिया। अपने ऊपर मिट्टी का तेल उड़ेल कर आग लगा ली। किशोरी की चीखपुकार सुनकर घर वाले और गांव वालों ने कमरे का दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला, लेकिन तब तक किशोरी की मौत हो चुकी थी। खबर पाकर एएसपी ओमप्रकाश सिंह पुलिस के साथ गांव पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पिता ने बेटी के आत्मदाह किए जाने की तहरीर पुलिस को दी है।

चार दिन पहले गुहार लगाने पहुंची थी कोतवाली

अपर पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि चार दिन पहले किशोरी बहन के घर से भागकर कोतवाली मैनपुरी पहुंच गई थी। उसने शिकायत की थी कि वह प्रेमी से शादी करना चाहती है, लेकिन घर वाले उनकी शादी नहीं होने दे रहे हैं। लड़की के नाबालिग होने के कारण पुलिस ने परिजनों को बुलाकर उसे सौंप दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Minor teenager set fire to death due to failure in love relationship