ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मैनपुरीमेडिकल छात्रों पर टिप्पणी करने वाले वाट्सअप मैसेज पूरी तरह फर्जी

मेडिकल छात्रों पर टिप्पणी करने वाले वाट्सअप मैसेज पूरी तरह फर्जी

वाट्सअप ग्रुप पर चल रहे एक मैसेज को लेकर उठ रहे सवालों पर मैनपुरी पुलिस ने ट्वीट किया है। लोगों को जानकारी दी है कि कुछ वाट्सअप ग्रुप पर मेडिकल स्टूडेंट को आतंकवादी संगठन का पदाधिकारी बताकर मैसेज दिए...

मेडिकल छात्रों पर टिप्पणी करने वाले वाट्सअप मैसेज पूरी तरह फर्जी
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मैनपुरीSun, 03 Nov 2019 11:52 PM
ऐप पर पढ़ें

व्हाट्सप ग्रुप पर चल रहे एक मैसेज को लेकर उठ रहे सवालों पर मैनपुरी पुलिस ने ट्वीट किया है। लोगों को जानकारी दी है कि कुछ व्हाट्सप ग्रुप पर मेडिकल स्टूडेंट को आतंकवादी संगठन का पदाधिकारी बताकर मैसेज दिए जा रहे हैं। इस तरह का कोई भी मैसेज पूरी तरह से फर्जी है। लोगों से अपील की गई है कि वह इस तरह के मैसेज को न तो लाइक और न ही शेयर करें। अन्यथा कार्रवाई की जाएगी।

पिछले कई दिनों से व्हाट्सप के कुछ ग्रुपों पर मैसेज चल रहा है कि यदि आपके घरों पर कुछ लड़के, लड़कियां आते हैं और कहते हैं कि वह मेडिकल के स्टूडेंट हैं और वह आपका सुगर, बीपी या अन्य ब्लड टेस्ट फ्री में करने की बात कहते हैं तो यह लोग बड़ा खतरा हैं। यह आतंकवादी संगठन के लोग हैं। ऐसे लोग यदि आएं तो उनकी सूचना तत्काल पुलिस को दें ताकि उन पर कार्रवाई की जा सके। इस तरह के मैसेज सामने आने पर पुलिस ने संज्ञान लिया है। ट्विटर पर मैनपुरी पुलिस की ओर से इस तरह के मैसेज को भ्रामक बताया गया है। कहा गया है कि मैनपुरी पुलिस या यूपी पुलिस की ओर से इस तरह का कोई भी मैसेज सूचना देने के लिए जारी नहीं किया गया है। जनपद के लोग इस तरह के मैसेज को न तो भेजे और न ही शेयर करें।

इंसेट

सोशल मीडिया पर रखी जा रही है नजर

मैनपुरी। मैनपुरी में सोशल मीडिया पर पुलिस की नजर है। व्हाट्सप, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर चल रहे मैसेज पर नजर रखी जा रही है। आपत्तिजनक मैसेजों को वॉच किया जा रहा है। संवेदनशील मुद्दों को लेकर की जा रही पोस्ट लाइक और शेयर पर भी पुलिस नजर रख रही है। हालांकि यह पूरी तरह से गोपनीय रखा गया है। लोगों से कहा जा रहा है कि वह किसी भी सूरत में आपत्तिजनक मैसेज न तो पोस्ट करें और न ही शेयर करें। पुलिस ही नहीं बल्कि सुरक्षा से जुड़े अन्य विभाग भी सोशल मीडिया के मैसेज देख रहे हैं। ऐसा सूत्रों का कहना है।

जनपद में कानून व्यवस्था के खिलाफ किसी भी तरह के मैसेज बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। मेडिकल के स्टूडेंट को लेकर जो मैसेज व्हाट्सप पर चल रहा है वह पूरी तरह फर्जी है। इस तरह के मैसेज न तो पोस्ट करें और न शेयर करें।

अजयशंकर राय, एसपी मैनपुरी

epaper