I will fight Loksabha election from Mainpuri: Mulayam - मैनपुरी से ही लड़ूंगा अगला लोकसभा चुनाव: मुलायम DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैनपुरी से ही लड़ूंगा अगला लोकसभा चुनाव: मुलायम

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर मैनपुरी से अपने राजनैतिक तार जोड़े। एलान किया कि वे अब आजमगढ़ से नहीं बल्कि मैनपुरी से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। ये भी जोड़ा कि उन्हें फंसाने के लिए उनके ही कुछ लोगों ने उन्हें आजमगढ़ में चुनाव लड़ने भेज दिया था। मैनपुरी से उन्हें पहचान मिली है। यही उनका घर है।

रविवार को एक निजी समारोह में पहुंचे मुलायम ने कहा कि मैनपुरी से लोकसभा चुनाव जीतकर वे रक्षा मंत्री बने। यहां के सांसद बनने के बाद उन्हें प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने का भी गौरव मिला। इसलिए अब वे मैनपुरी से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ से उनकी चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं थी। लेकिन कुछ अपनों ने ही उन्हें वहां से चुनाव लड़ाकर फंसा दिया। मैनपुरी के सांसद तेजप्रताप यादव कहां से चुनाव लड़ेंगे इस सवाल पर मुलायम ने तल्खी दिखाई और कहा कि इसका फैसला उन्हें करना है कि तेजप्रताप को कहां से चुनाव लड़ाया जाए। मुझसे ये सवाल न पूछा जाए।

मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निकाले कांग्रेस: मुलायम

मैनपुरी। रविवार को मैनपुरी आए सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने कांग्रेस पर हमला बोला। कहा कि प्रधानमंत्री को कांग्रेस नेता ने नीच कहा लेकिन कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निकालने के बजाय सिर्फ निलंबित किया। ऐसे नेता को पार्टी से निकाला जाना चाहिए। जोड़ा कि भाजपा से उनके नीतिगत मतभेद हैं। लेकिन प्रधानमंत्री को जनता ने चुना है इसलिए इस तरह की टिप्पणी ठीक नहीं है।

रविवार को दोपहर 12 बजे के करीब नगर के एक गेस्ट हाउस में पूर्व मंत्री सतीश सिंह राठौर के पुत्र के तिलक समारोह में मुलायम भाग लेने आए थे। इस दौरान उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के फैसलों की मुखालफत की। कहा कि सपा गुजरात में सिर्फ पांच सीटों पर ही लड़ रही है। उन्होंने जब चुनाव लड़ाया था तो सपा के तीन एमएलए चुनाव जीते थे। महज पांच सीटों पर चुनाव लड़ने से सपा का मजाक बना है। उन्होंने फिर दोहराया कि सपा के सभी प्रत्याशी फिर चुनाव हारेंगे। मुलायम ने निकाय चुनाव में सपा की हार पर भी सवाल उठाए और कहा कि पता नहीं कि चुनाव में किस तरह के प्रत्याशी उतारे गए। जब उन्होंने निकाय चुनाव लड़ाया था तो सपा ने प्रदेश के तीन मेयर भी अपने बनाए थे। उनकी सलाह से प्रत्याशी उतरते तो सपा की हार नहीं होती।

मुलायम बोले इवोम पर कायम हो रहा अविश्वास

मैनपुरी। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने इवोम पर उठ रहे सवालों का समर्थन किया और कहा कि इवोम से छेड़खानी को लेकर पूरे देश में अविश्वास कायम हो रहा है। जापान में सबसे पहले इवोम का प्रयोग हुआ लेकिन फिर भी पारदर्शिता के लिए जापान में बैलेट से चुनाव होता है। लेकिन अपने देश में भी इवोम के स्थान पर बैलेट से ही चुनाव होना चाहिए। ताकि चुनाव में निष्पक्षता बनी रही।

बदले-बदले दिखे सपा नेता, मुलायम के साथ पूरी ताकत से दिखे

मैनपुरी। रविवार को मैनपुरी पहुंचे सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साथ जिले के सपाई पूरे जोश में नजर आए। सात माह पूर्व सपा में चल रही तनातनी के दौरान मुलायम का दौरा मैनपुरी में लगा तो सपा के बड़े नेताओं ने उनके कार्यक्रम से कन्नी काट ली। मैनपुरी में ऐसा पहली बार हुआ जिसकी चर्चा सपा ही नहीं बल्कि विपक्षी राजनीति में भी होती रही। लेकिन रविवार को बदले घटनाक्रम के बीच सपाई मुलायम के साथ पूरी ताकत से खड़े दिखे।

सात माह पूर्व सपा नेता तोताराम यादव के होटल का उद्घाटन करने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव मैनपुरी आए तो उनके कार्यक्रम में सपा के बड़े नेताओं की अनुपस्थिति सभी को खली। माना गया कि लखनऊ से लेकर दिल्ली तक सपा के बड़े नेतृत्व में चल रहे घमासान के चलते जिले के सपाई मुलायम के कार्यक्रम से दूर हुए हैं। हालांकि बाद में कुछ सपाइयों ने मुलायम के कार्यक्रम में न आ पाने के लिए मैनपुरी से बाहर होने की सफाई भी दी। लेकिन सपा ही नहीं बल्कि विपक्षी राजनीति में भी इस बेरुखी का संदेश चला गया। कई महीनों जिले की राजनीति में इस घटनाक्रम की चर्चा होती रही।

निष्कासित सपाई भी कार्यक्रम में आए नजर

मैनपुरी। मुलायम के आगमन पर सपा के बागी नेता भी कार्यक्रम में पहुंचे। सपा से निष्कासित अनुजेशप्रताप सिंह यादव, सुजान सिंह यादव जैसे बड़े नेता भी मुलायम के कार्यक्रम में नजर आए। इन सपाइयों ने एकजुटता दिखाने की पूरी कोशिश की। जिले की राजनीति में मुलायम के आगमन को मैनपुरी के सपा में डैमेज कंट्रोल के रूप में भी देखा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:I will fight Loksabha election from Mainpuri: Mulayam