अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले के वाहन चालकों ने शिविर में कराई आंखों की जांच

जिले के वाहन चालकों ने शिविर में कराई आंखों की जांच

शनिवार को जिला चिकित्सालय में संभागीय परिवहन विभाग द्वारा नेत्र परीक्षण शिविर लगाया गया। शिविर में जिले के प्राइवेट और स्कूली वाहनों के चालकों का नेत्र परीक्षण कराया गया। कार्यक्रम में पहुंचे एसपी राजेश एस ने कहा कि वाहन संचालक उन चालकों को वाहन न दें जिनकी आंखों की रोशनी कम है। अन्यथा हादसा हो जाएगा।

एसपी ने वाहन संचालकों से अपील की कि जीवन का कोई मोल नहीं है। चालक खुद आगे बढ़कर अपनी आंखों की जांच कराएं। उन्होंने कहा कि मैनपुरी में सड़कें तो बहुत अच्छी हैं, लेकिन चालकों ने अभी भी नियम नहीं सीखे। इसीलिए मंडल में सबसे ज्यादा दुर्घटना जनपद में हो रही है। उन्होंने प्रवर्तन अधिकारी कौशलेंद्र सिंह के अभियान की तारीफ की और कहा कि एआरटीओ राजेश कर्दम के साथ मिलकर प्रवर्तन अधिकारी ने सड़क सुरक्षा को जन आंदोलन बना दिया है। कार्यक्रम में सीएमएस डा. आरके सागर भी मौजूद रहे। इस दौरान 130 वाहन चालकों की आंखों की जांच हुई। दस लोगों को कलर ब्लाइंड और 30 लोगों को आपरेशन की सलाह दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:District drivers examined eyes at the camp in Mainpuri