DA Image
17 जनवरी, 2021|1:47|IST

अगली स्टोरी

बॉर्डर पर कोरोना के साथ अपराधियों की निगरानी

बॉर्डर पर कोरोना के साथ अपराधियों की निगरानी

लॉकडाउन के बीच अपराध नियंत्रण की जिम्मेदारी भी पुलिस के कंधों पर है। हाल ही में कानपुर में हुए विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए सख्ती और बढ़ा दी है। जनपद की सीमाओं पर शाम होते ही पुलिस का पहरा सख्त हो जाता है। आने-जाने वाले वाहनों को रोका जा रहा है, उन्हें चेक किया जा रहा है। अपराध नियंत्रण के साथ-साथ कोरोना को रोकने के लिए भी पुलिस बॉर्डर सीज किए हुए है। ताकि दूसरे जिलों से आने वाले लोगों से मैनपुरी के लोगों को संक्रमण से बचाया जा सके। बॉर्डर पर एक स्वास्थ्य टीम भी साथ में लगाई गई है जो थर्मल स्क्रीनिंग कर रही है।

रविवार को मैनपुरी, फिरोजाबाद की सीमा पर अरांव बॉर्डर के निकट घिरोर पुलिस ने चेकिंग अभियान जारी रखा। बैरीयर लगाकर इस मार्ग को शाम 6 बजे से सील कर दिया जाता है। बेहद आवश्यकता से जुड़े वाहनों का ही आवागमन होने दिया जा रहा है। लॉकडाउन के दूसरे दिन थाना प्रभारी पहलवान सिंह ने घिरोर-अरांव बॉर्डर पर बैरीकेडिंग कराकर चेकिंग की। पुलिस टीम दिन-रात निगरानी कर रही है। किसी भी वाहन को बिना चेकिंग के गुजरने नहीं दिया जा रहा है। आवश्यक कार्य में लगे वाहनों को ही निकलने दिया जा रहा है। थाना प्रभारी ने बाइक चालकों को हिदायत दी कि वह बिना काम के घर से न निकलें। पकड़े जाने पर कार्रवाई की जाएगी। बॉर्डर पर वाहनों को रुकवाकर तलाशी भी हो रही है। ताकि संदिग्धों की निगरानी हो सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Criminals monitoring along the border corona