अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरोपी को न्यायालय ने एक दिन की सजा सुनाई

सिविल कोर्ट ने अभियुक्त को न्यायालय ने एक दिन की सजा सुना दी और 7500 रुपये का जुर्माना लगा दिया। जुर्माना अदा न करने पर एक माह के कारावास की सजा भी सुनाई गई। आरोपी ने जुर्माना अदा किया तो उसे छोड़ दिया गया।

थाना बरनाहल के धर्मपुर निवासी राधेश्याम को 25 मई 2012 को विद्युत विभाग के जेई रावेंद्र प्रताप ने चेकिंग के दौरान चोरी से नलकूप चलाते हुए पकड़ा था। राधेश्याम काटे गए नलकूप को अवैध रूप से जोड़कर चला रहा था। जेई ने बताया कि 18 मई 2012 को 268529 रुपया बकाया होने पर देवीप्रसाद के निजी नलकूप का विद्युत कनेक्शन काट दिया गया था। 25 मई 2012 को चेकिंग के दौरान देवीप्रसाद के पुत्र राधेश्याम द्वारा बिना अनुमति कनेक्शन जोड़कर नलकूप चलाते मिला। मामले की रिपोर्ट थाना बरनाहल में दर्ज कराई गई। न्यायालय में राधेश्याम के विरुद्ध आरोप पत्र 10 जनवरी 2013 को भेजा। तब से मामला चल रहा था। सिविल कोर्ट के चतुर्थ अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार ने मामले में संज्ञान लेते हुए अभियुक्त राधेश्याम को न्यायालय उठने तक की सजा सुनाई एवं 7500 रुपया का अर्थदंड लगाया। जुर्माना न देने पर एक माह के साधारण कारावास की सजा सुनाई। इस पर अभियुक्त ने जुर्माना अदा कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: court fines a accused for one day in Mainpuri