DA Image
23 अक्तूबर, 2020|2:16|IST

अगली स्टोरी

रक्तदान से व्यक्ति का जीवन बचे तो होती है सुखद अनुभूति

default image

गुरुवार को राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर जिला चिकित्सालय में रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ। सीडीओ ईशा प्रिया ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अमरनाथ सेवा मंडल के 23 पदाधिकारियों ने शिविर में रक्तदान किया। सीडीओ ने कहा कि इंसान के शरीर में दौड़ने वाला खून कहीं भी बनाया नहीं जा सकता। कुदरत ने यह व्यवस्था सिर्फ मानव शरीर में की है। रक्त दान से यदि किसी व्यक्ति के जीवन को बचाया जा सके तो इससे सुखद अनुभूति कहीं नहीं होगी।

सीएमओ डा. एके पांडेय ने कहा कि रक्तदान से मनुष्य कई बीमारियों से बच सकता है। 48 घंटे में मनुष्य के शरीर में नया खून बनकर तैयार हो जाता है, रक्तदान से कमजोरी नहीं आती। शिविर में 95 लोगों ने रक्तदान के लिए पंजीकरण कराया था। जिसमें से 23 लोगों ने रक्तदान किया। अमरनाथ सेवा मंडल के जिलाध्यक्ष दिगेंद्र मिश्रा मीतू ने बताया कि रक्तदान शिविर का आयोजन करने से लोगों में जागरुकता पैदा होती है। सीडीओ, सीएमओ व सीएमएस आरके सागर ने संस्था सन चेतना सोसाइटी, अटैवा, आरएसएस के अलावा रक्तदाता अंजनि पांडेय, दिगेंद्र मिश्रा, शिवनंदन, मोहित पटवा, अरविंद, नीलेश मिश्रा आदि को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर शिखा अग्रवाल, विनोद बिहारी तिवारी, रत्नेश कुमार, निधि अग्रवाल, सौरभ चौहान, जैनेंद्र यादव, सतेंद्र आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Blood donation gives a pleasant feeling to a person 39 s life