DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुकदमा दर्ज होते ही आरोपी सिपाही थाने से हुए फरार

आगरा के फौजी को लूटने के आरोपी दोनों सिपाही मुकदमा दर्ज होते ही थाने से फरार हो गए। एसपी अजय शंकर राय ने इन दोनों सिपाहियों को सस्पेंड भी कर दिया है। फरार सिपाहियों की गिरफ्तारी के आदेश दिए गए हैं। सिपाहियों पर वाहन चेकिंग के नाम पर फौजी से रुपये लूटने और गाड़ी छोड़ने के लिए दस हजार की नकदी खाते में ट्रांसफर कराने का आरोप है।

रविवार को आरोपी सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ तो इसकी भनक लगते ही दोनों सिपाही थाना छोड़कर फरार हो गए। भोगांव क्षेत्राधिकारी प्रियांक जैन ने बताया कि दोनों सिपाही थाने से गायब हैं। भोगांव थाना प्रभारी एसआर गौतम के नेतृत्व में दो टीमें सिपाहियों की तलाश में लगी हुई हैं। जल्द उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। आरोपी सिपाही कहां हैं, इस संबंध में कोई कुछ भी नहीं बता पा रहा है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से भोगांव पुलिस में अफरातफरी मची हुई है।

ये था मामला

3 अगस्त को जनपद आगरा के थाना बरहन के गांव गढ़ी निवासी फौजी कृष्णमुरारी गुरसहायगंज से अपने निजी वाहन से घर बरहन लौटकर जा रहा था। भोगांव चौराहे पर तैनात सिपाही कौशल किशोर व हरीश कुमार ने उसे रोक लिया और उससे बिना चौराहे की फीस दिए आगे नहीं बढ़ने की हिदायत दी। फौजी ने रुपये नहीं दिए तो दोनों सिपाही उसे जंगल में ले गए। बंधक बना लिया और मारपीट कर उसकी जेब में रखे 35सौ रुपये छीन लिए। जेल भेजने की धमकी देकर फौजी से दस हजार रुपये भी अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए। फौजी ने मैनपुरी से जाने के बाद आगरा में डीआईजी को घटना की जानकारी दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Accused escaped from police station as soon as the case is registered