अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक का पर्याय 50 हजार का ईनामी नंदा गिरफ्तार

मैनपुरी-फर्रुखाबाद और कन्नौज में आतंक का पर्याय रहने वाले 50 हजार के ईनामी बदमाश ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। इन जिलों की पुलिस और क्राइम ब्रांच इनामी की गिरफ्तारी के लिए प्रयासों में जुटी थी। पुलिस का दबाव बढ़ा तो आरोपी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया,जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी द्वारा आत्मसमर्पण किए जाने के बाद इन जिलों की पुलिस ने राहत की सांस ली है।

बेवर थाना क्षेत्र के ग्राम जिलई निवासी नंदा उर्फ नंदराम पुत्र रमेश चंद्र की गिरफ्तारी के लिए फर्रुखाबाद से 25 हजार और मैनपुरी से 25 हजार कुल 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। नंदा का इन जनपदों में लंबा आपराधिक इतिहास है। मैनपुरी और फर्रुखाबाद जनपदों में उसके खिलाफ 21 मुकदमे दर्ज हैं। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक अजयशंकर राय ने मैनपुरी क्राइम ब्रांच और बेवर पुलिस की दो टीमें बना रखी थीं। ये टीमें लंबे समय से तलाश में लगी थीं। बताया गया है कि दो दिन पहले उसकी आलीपुरखेड़ा क्षेत्र में घेराबंदी भी की गई थी, लेकिन वह बच निकला। पुलिस के दबाव में उसने सीजेएम न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया,जहां से उसे जेल भेज दिया गया। वहीं इस मामले में एसपी अजय शंकर राय का कहना कि जनपद पुलिस नंदा की गिरफ्तारी के लिए कई दिनों से कोशिश कर रही थी। मैनपुरी से उस पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। आरोपी ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया है। रिमांड पर लाकर उससे पूछताछ की जाएगी।

पुलिस अधीक्षक अजयशंकर राय ने बताया कि कोर्ट में हाजिर हुआ नंदा बेहद शातिर है। उसने बेवर थाने में दर्ज आईपीसी की धारा 174ए में वांछित होने पर आत्मसमर्पण किया है। नंदा के खिलाफ फर्रुखाबाद पुलिस ने मोहम्मदाबाद थाने में दर्ज हत्या के मुकदमे में गिरफ्तारी न होने पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। जनपद में इस शातिर आरोपी के खिलाफ लूट, हत्या, डकैती, गैंगस्टर, जानलेवा हमला के 21 मुकदमे दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:50 thousand prize nanda arrested