DA Image
26 जनवरी, 2020|11:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरोग्य केंद्रों पर स्क्रीनिंग शुरू, एनसीडी मरीज होंगे चिह्नित

आरोग्य केंद्रों पर स्क्रीनिंग शुरू, एनसीडी मरीज होंगे चिह्नित

नॉन कम्यूनिकेबल डिजीज (एनसीडी) मरीजों को चिह्नित करने के लिए गुरुवार को स्क्रीनिंग अभियान शुरू हो गया। मुख्य अतिथि नगरपालिका परिषद अध्यक्ष कृष्णगोपाल जायसवाल ने आरोग्य केंद्र करमहा में अभियान का शुभारंभ किया। कहा कि एनसीडी मरीजों में लगातार इजाफा हो रहा है। इसे कंट्रोल करने के लिए शासन ने स्क्रीनिंग अभियान संचालित किया है। आरोग्य केंद्रों पर तैनात सीएचओ संभावित पीड़ितों का स्क्रीनिंग कर उसे त्वरित स्वास्थ्य लाभ देने का कार्य करें।

अभियान के नोडल अधिकारी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि अभियान में 27 हजार एनसीडी मरीजों को चिह्नित कर उन्हें स्वस्थ कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 40 आरोग्य केंद्रों (हेल्थ वेलनेस सेंटर) पर तैनात सीएचओ और एएनएम नियमित स्क्रीनिंग करने का कार्य करें। सीएचसी अधीक्षक डॉ. केपी सिंह ने कहा कि एनसीडी बीमारी 30 वर्ष की आयु पूरी करने वाले व्यक्तियों में होने की संभावना अधिक होती है। ऐसे में इस आयुवर्ग ऊपर के संभावित पीड़ितों का स्क्रीनिंग कर उनका फेमिली फोल्डर भरा जाए। फेमिली फोल्डर को एनसीडी वेबसाइट पर अपलोड किया जाए।

इस मौके पर डिस्ट्रिक्ट कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर संदीप पाठक, बीपीएम सूर्य प्रताप सिंह, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी श्रीभागवत सिंह, बीसीपीएम लवली वर्मा के अलावा रामधारी, गुलाइची सहित कई लोग मौजूद रहे।

ये है एनसीडी बीमारी

कैंसर, शुगर, बीपी, लकवा एनसीडी बीमारी है। इस रोग से संभावित व्यक्ति का स्क्रीनिंग करने के लिए जिले में 97 आरोग्य केंद्र संचालित किया गया है। इसमें 40 आरोग्य केंद्रों पर सीएचओ ने कार्यभार ग्रहण कर स्क्रीनिंग शुरू कर दी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Screening starts at health centers NCD patients will be marked