DA Image
29 फरवरी, 2020|6:55|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिट्टी का बांध बना मोड़ी रोहिन की धारा, नहर में आने लगा पानी

नौतनवा ब्लॉक के ग्राम पंचायत रतनपुर में रोहिन नदी की धारा को मंगलवार को रोक दिया गया था। शनिवार की देर रात से रोहिन नहर में पानी आने लगा है। लेकिन किसान सिंचाई विभाग के इस प्रयास से कोई खास उत्साहित नहीं हैं। किसानों का कहना है कि उनके गेहूं की दूसरी सिंचाई हो गई, जिसके कारण अब नहर में पानी आने से कोई विशेष फायदा होता नहीं दिख रहा है।

नौतनवा ब्लाक के रतनपुर में रोहिन नदी में करीब 15 वर्षों से लगातार मिट्टी का बांध बनाकर सिंचाई विभाग रोहिन नहर में पानी की धारा को मोड़कर रतनपुर से लक्ष्मीपुर ब्लाक तक नहर में पानी दौड़ाता है। इस नहर के माध्यम से करीब पांच दर्जन गांवों में लगभग 50 हजार एकड़ खेती की सिंचाई होती है। हर साल लाखों रुपये इसमें खर्च कर मिट्टी का बांध बनाया जाता है।

20 दिनों से चल रहा था काम

रोहिन नदी की धारा को मोड़ने के लिए करीब 20 दिनों से काम चल रहा था। सिंचाई विभाग ने 66 मीटर लम्बा और 20 फिट ऊंचा मिट्टी का बांध बनाकर रोहिन नदी की धारा को मोड़ दिया है। शनिवार की देर रात से नहर में पानी आने लगा है।

इस साल इस प्रयास से नाखुश हैं किसान

हर साल इस नहर में पानी आने से किसानों को सिंचाई में काफी सहूलियत मिलती है। सिंचाई विभाग भी इसी वजह से लाखों रुपये मिट्टी का बांध बनाने में खर्च कर देता है। लेकिन इस साल मामला उलट है। किसान जगदीश यादव, गोरख यादव, मुकुत यादव, रमेश साहनी, विक्रम यादव, अमीरक, अजीत, रामाज्ञा, जयप्रकाश पाण्डेय आदि का कहना है कि सिंचाई विभाग की ढिलाई के कारण कभी भी समय से पानी नहीं मिलता है। इस साल तो रोहिन नहर का पानी बेमतलत है, क्योंकि गेहूं की दूसरी सिंचाई भी हो चुकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rohin stream turned water started coming into the canal